सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

आखिरी विकल्प के तौर पर होगा पैलेट गन का इस्तेमाल

जम्मू-कश्मीर में उपद्रवियों से निपटने के लिए अब प्लास्टिक बुलेट का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा किया जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से 1000 प्लास्टिक बुलेट कश्मीर घाटी में भेजी भी जा चुकी है और सुरक्षाबलों को आदेश भी दिया गया है कि वो भीड़ को काबू में करने के लिए वो पैलेट गन का इस्तेमाल ना करें।
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में पैलेट गन के इस्तेमाल पर रोक की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा था कि वह प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए जल्द ही एक सीक्रेट हथियार का इस्तेमाल करने वाली है। केंद्र सरकार के अनुसार मुताबिक बदबूदार पानी, लेज़र डेज़लर और तेज आवेज़ करने वाली मशीनों का भी प्रदर्शनकारियों पर कोई असर नहीं होता है, तब आखिरी विकल्प के तौर पर पैलेट गन का इस्तेमाल किया जाता है।