कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

कल के शब्द :– रेल और रेलवे।


कल (२८ नवम्बर) रविवार रहेगा और आपको देश के शीर्षस्थ दैनिक हिन्दी-समाचारपत्र ‘दैनिक जागरण’ और मध्यप्रदेश के पाठकप्रिय दैनिक हिन्दी-समाचारपत्र ‘नई दुनिया’ और ‘नव दुनिया’ के कल के अंक में अतीव उपयोगी साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ (‘झंकार’ नामक परिशिष्ट के अन्तर्गत मुद्रित) में उन शब्दों का अध्ययन कराया जायेगा, जिनका अधिकतर पढ़े-लिखे लोग अशुद्ध और अनुपयुक्त प्रयोग करते आ रहे हैं। हो सकता है, उनमें से एक ‘आप’ भी हों।

इसे ‘दैनिक जागरण’ के फ़ीचर-सम्पादक प्रियवर अरुण श्रीवास्तव जी हमेशा की तरह से प्रस्तुत करेंगे। उक्त तीनों समाचारपत्रों में से जो भी आपके लिए सुलभ हो, क्रय करके पढ़ने का अभ्यास करें और अपना शब्दज्ञान बढ़ायें।