मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

कृपया निम्न टंकित चार शब्दों को गम्भीरतापूर्वक समझें।

१- बाह्य— बाहरी, बाहर का, बाहर की ओर
२- वाह्य— वहन (ढोने) करने-योग्य; जैसे– वाहन, वाहक आदिक।
३- अन्तर्राष्ट्रीय— अपने राष्ट्र में होनेवाला; अपने राष्ट्र की भीतरी बातों से सम्बन्ध रखनेवाला।
४- अन्तरराष्ट्रीय— दो अथवा अधिक राष्ट्रों के पारस्परिक व्यवहार से सम्बन्ध रखने अथवा उनमें होनेवाला।
इस शब्द का अर्थ सम्पूर्ण विश्व अथवा वैश्विक से कदापि नहीं है।

ज्ञातव्य है कि जब ‘अन्तर्राष्ट्रीय/अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस अथवा अन्य ऐसे ही दिवस शब्द का प्रयोग किया जाता है तब वह अपना वास्तविक अर्थ खो देता है, इसलिए ‘सम्पूर्ण विश्व के देशों के सन्दर्भ’ में ‘विश्व महिला दिवस’, विश्व पत्रकारिता दिवस’, ‘विश्व हिन्दी दिवस आदिक का प्रयोग करना चाहिए।

(सर्वाधिकार सुरक्षित– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय, प्रयागराज; १२ अगस्त, २०२० ईसवी)