सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

गुरुदेव आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय जी की इस वर्ष की कर्मशाला का प्रथम आयोजन श्री शिवमंगल मौर्य इण्टरमीडिएट कॉलेज, ऊँचाहार, रायबरेली मे २१ सितम्बर को होगा, तदनन्तर सितम्बर-माह की अन्य तिथियों मे कौशाम्बी के अनेक शिक्षण-संस्थानो मे आयोजन का होना सुनिश्चित हुआ है।

उल्लेखनीय है कि वे सभी आयोजन “भूतो न भविष्यति” सिद्ध होंगे। संस्थानो के विद्यार्थियों और अध्यापकों-अध्यापिकाओं को ‘मौखिक’ और ‘लिखित’ भाषाओं मे व्याप्त अशुद्ध शब्दप्रयोग का बहुविध बोध कराते हुए उनके शुद्ध शब्द-व्यवहार का सोदाहरण संज्ञान कराया जायेगा। व्याकरण और संरचना-खण्ड के विविध पक्षों का अभ्यास कराया जायेगा। प्रत्येक विद्यार्थी और अध्यापक की भाषिक शंका का समाधान, समस्या का निराकरण तथा जिज्ञासा का प्रशमन किया जायेगा।
इसी क्रम मे उत्तर-भारत मे कर्मशाला का विस्तार किया जायेगा; और भी बहुत कुछ।

★ प्रस्तुति– रणविजय निषाद
(शिक्षक और लेखक)