सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

जनशक्ति में पुनः विश्‍वास करने की आवश्‍यकता है

राष्‍ट्र के लोगों की ताकत पहचानकर इसे नई ऊंचाई तक ले जाने का समय अब आ गया है । राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने संसद में धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर लोकसभा में चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि जनशक्ति में पुनः विश्‍वास करने की आवश्‍यकता है। लोकतंत्र के कारण ही गरीब परिवार में पैदा हुआ व्‍यक्ति भी देश का प्रधानमंत्री बन सकता है ।

प्रधानमंत्री ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराए जाने के विचार पर कहा कि इस पर राजनीतिक दलों को जरूर सोचना चाहिए। कुछ लोगों द्वारा स्‍वच्‍छता को राजनीतिक मुद्दा बनाए जाने पर श्री मोदी ने आश्‍चर्य व्‍यक्‍त किया है । स्‍वच्‍छ भारत के लिए उन्‍होंने लोगों से मिलकर काम करने का आग्रह किया।