सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

दुर्गति का ज़िम्मेदार कौन ! राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण में हरदोई का 431वाँ स्थान

भाजपा जिलाध्यक्ष श्री कृष्ण शास्त्री ने आज पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 40 वर्षों से सदर विधानसभा सीट पर, 25 सालों से ज़िला पंचायत और 15 बरसों से नगर पालिका परिषद् पर क़ाबिज़ विकास पुरुष कहे जाने वाले नरेश अग्रवाल के कथित विकास की कुल जमा पूंजी है 434 शहरों में हुए राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण में हरदोई का 431वें स्थान पर आना। कहा कि, हरदोई की जनता जानना चाहती है कि शहर की इस दुर्गति का ज़िम्मेदार कौन है ? हालांकि, सर्वेक्षण ज़मीन पर नहीं दिखने के सवाल पर शास्त्री ने उसके ऑनलाइन होने की बात कही।

भले ही भाजपा जिलाध्यक्ष अपने छोड़े तीरों का रुख़ सपा राष्ट्रीय महासचिव/सांसद नरेश अग्रवाल और उनके परिजनों की ओर जता रहे थे, लेकिन निशाना असल में कहां था, ये छिपा नहीं रह सका। आमतौर पर जिलाध्यक्ष पार्टी पदाधिकारियों के साथ प्रेस कॉन्फ़्रेंस करते आए हैं। लेकिन, आज उनके बगलगीर थे ‘युवा तुर्क’ पारुल दीक्षित। प्रेस वार्ता स्थल पर पहुंचने वाले पत्रकारों की अगवानी भी पारुल ने ही की। प्रेस रिलीज भी उन्हीं ने तैयार करवाई। शास्त्री ने बस कुछ संशोधन के साथ ब्रीफ भर किया। चूंकि, राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर की बुरी गत का वक़्त पर एक बहाना मिल गया, तो शास्त्री ने पारुल को बगल में बिठा आसन्न निकाय चुनाव में ‘प्रॉपर’ से पार्टी का सम्भावित चेहरा नुमाया कर दिया। सवाल हुआ हरदोई पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी की बाबत, तो शास्त्री ने कहा कि उम्मीदवार तय है। हम जिताऊ को मैदान में लाएंगे। क्या वह जिताऊ पारुल हैं ??? इस सवाल पर भाजपा जिलाध्यक्ष बस ज़ोर से हंस दिए, तो पारुल मंद मंद मुस्कुराते रहे। हालांकि, पारुल की प्रत्याशिता को आज की प्रेस कॉन्फ़्रेंस के बहाने बल दिया गया, इसके पीछे ठोस वजह है।

-अंतर्ध्वनि एन इनर वॉइस ब्यूरो