संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

तीन सौ किलोमीटर लम्‍बे जम्‍मू-श्रीनगर राष्‍ट्रीय राजमार्ग को चार लेन का बनाने का काम अंतिम चरण में

जम्‍मू कश्‍मीर में पिछले चार वर्षों में सड़कों के निर्माण में अभूतपूर्व तेजी देखने को मिली है। राज्‍य में राष्‍ट्रीय राजमार्गों और सुरंगों के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री के विकास पैकेज के तहत चार खरब बीस अरब रूपये आवंटित किये गये हैं। तीन सौ किलोमीटर लम्‍बे जम्‍मू-श्रीनगर राष्‍ट्रीय राजमार्ग को चार लेन का बनाने का काम अंतिम चरण में है।

कल जम्‍मू की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा बनाई जाने वाली साठ किलोमीटर लम्‍बी महत्‍वाकांक्षी जम्‍मू रिंग रोड़ परियोजना की आधारशिला रखेंगे। राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण एन एच ए आई के क्षेत्रीय प्रभारी हेमराज ने बताया कि यह परियोजना सांबा जिले के रायमूर विजयपुर से जम्‍मू जिले के चट्टीनगरोपा तक निर्मित की जाएगी। 2024 करोड़ रूपए की लागत से इस परियोजना के अनुमानित तीन वर्षों में पूरा होने की अपेक्षा है।

इस जोजिला हाईवे के बन जाने के बाद अभी जो ट्रैफिक हमारी अखनूरू, राजौरी, पुंछ और श्रीनगर जाती है वो जम्‍मू शहर से होकर जाती है, ये सारी ट्रैफिक बिना जम्‍मू सिटी में एंटर किए अपने डेस्‍टीनेशन्स में जा पाएगी। रिंग रोड के निर्माण से क्षेत्र में रहने वाले लोगों का आर्थिक और सामाजिक विकास होगा। ये सडक परियोजना दो जिलों के साठ गांवों से होकर गुजरेगी। इस परियोजना से जहां एक ओर राजधानी वाले जम्‍मू शहर में यातायात की भीड को एक विकल्‍प मिलेगा वहीं यह परियोजना पुंछ, राजौरी, मुसेरा और अखनूर के सामरिक महत्‍व वाले सीमावर्ती क्षेत्रों में भारी भरकम सैन्‍य यातायात को भी सुविधा प्रदान करेगी।