सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

ओनवा से त्यौना मार्ग के गड्ढे बयां कर रहे गड्ढा मुक्त सड़कों की हकीक़त

कछौना, हरदोई। विधानसभा क्षेत्र बालामऊ के अंतर्गत ग्राम ओनवा से ग्राम त्यौना संपर्क मार्ग की हालत जनप्रतिनिधियों व प्रशासन की अनदेखी के चलते कई दशकों से युक्त पड़ी है। इस मार्ग पर कई गांव आते हैं। सड़क खराब होने के कारण आए दिन इस मार्ग पर हादसे होते रहते हैं। जिसका दंश आम जनमानस झेल रहे हैं।

चुनाव के समय नेता बड़े आश्वासन की घुट्टी पिलाकर सुध नहीं लेते हैं। यह मार्ग दो विकासखंड कछौना व कोथावां को जोड़ता है। इस मार्ग पर कई दशकों से कोई कार्य नहीं कराया गया है। जिसके चलते पैदल चलना तक दुष्कर हो गया है। सबसे ज्यादा नौनिहाल व गर्भवती महिलाओं को दिक्कत होती है। कोई अनहोनी घटना पर इमरजेंसी वाहन गांव नहीं पहुंच पाते हैं। पूरा मार्ग गड्ढों में तब्दील हो गया है। यह मार्ग बालामऊ से बेनीगंज व कोथावां जाने का मुख्य मार्ग है।

ग्रामीणों ने इस मार्ग के निर्माण हेतु जिला अधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधि विधायक, सांसद को दर्जनों पत्र के माध्यम से अवगत कराया लेकिन आज तक किसी ने समस्या के निराकरण में रुचि नहीं दिखाई, जिसका खामियाजा आम जनमानस को उठाना पड़ रहा है। इस समस्या के विषय में लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय खंड के अवर अभियंता ने बताया इस सड़क के निर्माण हेतु स्टीमेट बनाकर शासन को भेज दिया गया। धनराशि स्वीकृत होते ही निर्माण कार्य करा दिया जाएगा अथवा जनप्रतिनिधियों के रूचि लेने पर ही मार्ग निर्माण कार्य संभव है।

रिपोर्ट – पी०डी० गुप्ता