मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

सुर्खियों में छाने के बाद भी जिम्मेदार अफसर बने अनजान

हरदोई- पीड़ित खुशीराम की ओर से पुलिस पर लगाए गए आरोपों की जांच तो दूर रही।सुर्खियों में मामला छा जाने के बाद भी जिम्मेदार अफसर इस मामले को लेकर अनजान बने हैं।इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पीड़ित के आरोप सही या गलत या फिर पुलिस की ओर से कहीं जा रही बात सच है या गलत यह सब बातों से पर्दा कब उठ उठ सकेगा।इस तरह के माहौल को देखते हुए मामले में न्यायिक जांच होने में वक्त लग सकता है वही जिला अस्पताल में खुशीराम लखनऊ के लिए रेफर कर दिया है।
         माधौगंज थाना क्षेत्र के अमसा मजरा पहुंतेरा का है। यहां के निवासी खुशी राम ने पुलिस पर फर्जी छेड़खानी के मामले में आरोपी बनाने का आरोप लगाया है उसके बाद दूसरा आरोप लगाया कि जब मामला सुर्खियों में आया तब पुलिस डॉक्टरों की मिलीभगत से ऑटो रिक्शा से ले जाकर जिला कारागार तक पहुंचाया जिस रास्ते से जिला कारागार पहुंचाया गया उस वक्त का वीडियो देखकर हर कोई हैरान है उसे देखकर हर कोई पुलिस वालों पर उंगली उठा रहा है वही इस मामले में जांच के विषय को लेकर एसपी बस में निधि सोनकर से जानकारी चाही गई उन्हें बताया कि इस प्रकरण की जानकारी नहीं है फिलहाल उसकी जांच कराई जाएगी।