संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

भारत ने बांग्लादेश को गिफ्ट की 109 एंबुलेंस, बांग्लादेश ने प्रधानमंत्री मोदी को कहा शुक्रिया

कोविड-19 के खिलाफ जारी जंग में भारत अपने पड़ोसी देशों की लगातार मदद कर रहा है। इस कड़ी में 13 सितंबर को भारत ने 109 कार्डिक एंबुलेंस बांग्लादेश को सौंपा है। जिस पर बांग्लादेश के स्वास्थ्य मंत्री जाहिद मलिक ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का शुक्रिया अदा किया है।

भारतीय उच्चायुक्त विक्रम कुमार दोराईस्वामी ने स्वास्थ्य मंत्री मलिक को सौंपी एंबुलेंस की चाबी

इस बारे में ढाका स्थित भारतीय दूतावास ने बताया कि स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय के सेंट्रल मेडिकल स्टोर डिपो (CMSD) में एक समारोह का आयोजन किया गया था। इसमें बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम कुमार दोराईस्वामी ने स्वास्थ्य मंत्री मलिक को 109 कार्डिक एंबुलेंस की चाबी सौंपी। ये एंबुलेंस कोविड-19 से लड़ रहे बांग्लादेश के लिए मददगार साबित होंगी।

क्या बोले बांग्लादेश के स्वास्थ मंत्री:
इस अवसर पर बांग्लादेश के स्वास्थ्य मंत्री मलिक ने कहा, ‘कोविड-19 के कठिन वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांग्लादेश को उपहार स्वरुप 109 एंबुलेंस देकर भारत और बांग्लादेश की दोस्ती को और मजबूती दी है। ये एंबुलेंस देश भर के अस्पतालों की स्वास्थ क्षमता को बढ़ाने का काम करेंगी।’ इसके साथ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को शुक्रिया भी बोला।
इसके अलावा बांग्लादेश का हॉस्पिटल सर्विस मैनेजमेंट 21 अतिरिक्त एबुंलेंस की खरीद करेगा साथ ही 60 अन्य एंबुलेंस की खरीद देश के जिलास्तरीय स्वास्थ्य देखभाल ऑपरेशन प्लान के तहत की जाएगी।

स्वास्थ्य-ढांचे को मजबूत कर रहा बांग्लादेश:
स्वास्थ्य मंत्री मलिक ने एम्बुलेंस को देश के दूरस्थ क्षेत्र के अस्पतालों के निदेशकों, प्रतिनिधियों, ढाका मेडिकल कॉलेज अस्पताल, राष्ट्रीय हृदय रोग अस्पताल और ढाका नॉर्थ सिटी कोविड अस्पताल को सौंप दिया।

पड़ोसी भारत की प्राथमिकता, हर वक्त की मदद:
भारत ने हमेशा से अपने ‘पड़ोस प्रथम’ नीति को प्राथमिकता दी है और इसी नीति को आगे बढ़ाते हुए भारत ने पड़ोसी देशों की मदद भी की है, जिसमें बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, मालदीव्स शामिल हैं। कोरोना से लड़ने के लिए भारत ने अपने पड़ोसी देशों को जीवन रक्षक दवाओं की सप्लाई, मेडिकल उपकरण, ऑक्सीजन प्लांट, वैक्सीन और एबुंलेंस आदि की मदद दी है।

(रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी)