कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

इंडोनेशिया सरकार ने भारत से मांगी मदद

विश्व के तमाम देशों की तरह इंडोनेशिया भी कोरोना वायरस का कहर झेल रहा है। इंडोनेशिया में कोविड-19 से अब तक 24 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और 64 हजार 631 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बढ़ते संक्रमण के कारण वहां मेडिकल ऑक्सीजन का संकट पैदा हो है। इन चिंताजनक परिस्थितियों में इंडोनेशिया सरकार ने भारत से मदद मांगी है। जिसके बाद भारत ने इंडोनेशिया को मदद भेजा है।

कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में भारत ने इंडोनेशिया को भेजी मदद

इस सम्बंध में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने लिखा कि इंडोनेशिया की कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत भी कंधे से कंधा मिलकार खड़ा है। इसके तहत भारत ने आईएनएस ऐयरवत से 300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 100 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन भेजा है। जिसे कुछ औपचारिकताओं के कारण इंडोनेशिया के तंजुंग प्रियक पहुंचने में देरी हुई है। बहुत जल्द ये मदद इंडोनेशिया पहुंच जाएगी। भारत कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अपने सहयोगियों के साथ सदैव खड़ा था और खड़ा रहेगा।

आईएनएस ऐयरवत से भारत ने इंडोनेशिया को भेजा 300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 100 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन

बता दें कोरोना की पहली लहर के दौरान भारत ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ के मंत्र पर चलते हुए कई देशों को कोरोना से उपचार में सहायक दवाएं एवं अन्य मेडिकल सप्लाई भेजी थी। इसी का प्रतिफल था कि जब भारत कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा था तब भारत की मदद के लिए दुनिया के कई देश आगे आए थे। इनमें से एक देश इंडोनेशिया भी था, जिसनें कोविड-19 के खिलाफ भारत के युद्ध में अपना योगदान दिया था। अब जब इंडोनेशिया की स्थिति खराब हुई है तो भारत ने एक बार फिर मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है।

(रिपोर्ट : शाश्वत तिवारी)