सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

विश्व गर्भनिरोधक दिवस के मौके पर जिला महिला चिकित्सालय में कार्यक्रम हुआ आयोजित

 प्रत्येक वर्ष 26 सितंबर को विश्व गर्भनिरोधक दिवस मनाया जाता है। इसी क्रम में सोमवार को जिला महिला चिकित्सालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. विनीता चतुर्वेदी ने किया । मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने कहा कि लोगों को परिवार नियोजन साधनों के बारे में जागरूक करने के उद्देश्य से दिवस मनाया जाता है।

डा. विनीता ने कहा कि यह समय की मांग है कि छोटा परिवार हो क्योंकि छोटे परिवार से जहां माँ और बच्चे का स्वास्थ्य अच्छा रहता है वहीं उनका लालन पोषण भी अच्छे तरीके से होता है। इसलिए समुदाय को परिवार को सीमित रखने, दो बच्चों के बीच तीन साल का अंतर रखने और पहला बच्चा विवाह के दो साल बाद करने के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता प्रेरित करते हैं। इसके लिए सरकार ने बास्केट ऑफ च्वाइस की सुविधा प्रदान की है। 

बास्केट ऑफ च्वाइस में परिवार नियोजन के स्थायी साधन, महिला एवं पुरुष नसबंदी तथा अस्थायी साधन त्रैमासिक गर्भनिरोधक इंजेक्शन अंतरा, आकस्मिक गर्भनिरोधक गोलियां, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया आईयूसीडी (कॉपर टी) और कंडोम की सुविधा उपलब्ध है;  लाभार्थी अपनी इच्छा के अनुरूप इन साधनों में से उपयुक्त साधन का चुनाव कर सकता है। इसके साथ ही जनपद में स्वास्थ्य केंद्रों पर हर माह की 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस और हर बृहस्पतिवार को अंतराल दिवस आयोजित होता है। इसके माध्यम से जहां लाभार्थियों को परिवार नियोजन साधनों के बारे में जागरूक किया जाता है वहीं उन्हें साधन अपनाने के लिए प्रेरित भी किया जाता है और उन्हें परामर्श भी दिया जाता है ।

स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय ने बताया कि इस अवसर पर दो पुरुषों और एक महिला ने नसबंदी की सेवा अपनाई। इसके साथ ही 60 महिलाओं ने प्रसव पश्चात आईयूसीडी और 12 महिलाओं ने आईयूसीडी लगवाई। इसके अलावा त्रैमासिक गर्भनिरोधक इंजेक्शन अन्तरा 192 महिलाओं ने अपनाया। आकस्मिक गर्भनिरोधक गोली 14, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया के 166 पैकेट्स, माला एन के 133 पैकेट्स और कुल 3501 कंडोम का वितरण निःशुल्क किया गया।
इस मौके पर एफपीएलएमआईएस मैनेजर किंदरलाल, उत्तर प्रदेश तकनीकी सहायक इकाई के जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ, अस्पताल के कर्मचारी और लाभार्थी उपस्थित रहे। 

इसी क्रम में नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (यूपीएचसी) विभुती नगर पर विश्व गर्भ निरोधक दिवस का उदघाटन राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. अखिलेश बाजपेई  द्वारा किया गया। इस मौके पर यू.पी.एच.सी के चिकित्सा अधिकारी डा. आसुतेंद्र प्रताप सिंह, संस्था पॉपुलेशन सर्विस इंटरनेशनल (पीएसआई) इंडिया से धर्मेन्द्र सिंह, गणेश शुक्ला एवं शहरी स्वास्थ्य समन्वयक आसित श्रीवास्तव एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।