कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

भाषा को सम्मान : भारतीय धरोहरस्थलों का विवरण यूनेस्को की वेबसाइट पर हिन्दी में होगा प्रकाशित

पेरिस। हिन्दी प्रेमियों के लिए इस वर्ष का विश्व हिन्दी दिवस गौरवमयी रहा। यूनेस्को के विश्व विरासत केंद्र ने डब्ल्यूएचसी की वेबसाइट पर भारत के यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों के बारे में हिंदी में विवरण प्रकाशित करने पर सहमति व्यक्त की है। यह जानकारी यूनेस्को में भारत के स्थायी प्रतिनिधिमंडल ने एक बयान जारी कर दी है।

यूनेस्को में भारत के स्थायी प्रतिनिधिमंडल ने एक बयान जारी कर दी जानकारी।

अपने बयान में प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि हमें यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर, विश्व विरासत केंद्र के निदेशक ने हमें सूचित किया है कि यूनेस्को का विश्व विरासत केंद्र भारत के यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों के हिंदी विवरण को डब्ल्यूएचसी की वेबसाइट पर प्रकाशित करने के लिए सहमत हो गया है। हम इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हैं।

विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने ट्वीट कर कहा- भारत के लिए एक महत्वपूर्ण दिन।

प्रतिनिधिमंडल की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि पेरिस स्थित यूनेस्को मुख्यालय में भारत के स्थायी प्रतिनिधिमंडल ने विश्व हिंदी दिवस 2022 के अवसर पर वर्चुअल उत्सव का आयोजन किया। इस मौके पर विदेश और संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने एक वीडियो संदेश दिया और हिंदी के महत्व पर जोर दिया। यूनेस्को में भारत के राजदूत/स्थायी प्रतिनिधि विशाल शर्मा ने भी भारत की स्वतंत्रता के पिछले 75 वर्षों के दौरान हिंदी की विकास यात्रा के प्रमुख बिंदुओं पर प्रकाश डाला।

वहीं हिन्दी भाषा को मिले इस सम्मान पर विदेश एवं संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने ट्वीट किया। अपने ट्वीट में लेखी ने कहा भारत के लिए एक महत्वपूर्ण दिन! विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर, यूनेस्को के विश्व विरासत केंद्र ने डब्ल्यूएचसी की वेबसाइट पर हमारे यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों के हिंदी विवरण प्रकाशित करने पर सहमति व्यक्त की है। ऐतिहासिक निर्णय से वैश्विक मंच पर हिंदी की अधिक पहचान सुनिश्चित होगी।

(रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी)