संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

शारदा नहर से गोवंश अवशेष बरामद, क्षेत्र में गोवंशों की तस्करी धड़ल्ले से

कछौना(हरदोई): वर्तमान समय में आवारा गोवंश की हालत बहुत ख़राब है। कृषि कार्य में प्रयोग न होने के कारण पशु पालकों ने उन्हें छोड़ दिया है। वहीं ग्राम सभा की भूमि पर अवैध कब्ज़ा व वनों के ख़त्म होने के कारण आवारा गोवंश किसानों की फसल को अत्यंत नुकसान पहुँचा रहे हैं। जिनसे बचाव के लिये किसानों ने अपने खेतों के किनारे पर ब्लेड वाले तार लगा रखे हैं, जिनसे आये दिन कोई न कोई पशु गम्भीर रूप से घायल होकर तड़प-तड़प कर मर जाता है। बाकी का कार्य गोतस्कर पूरा कर रहे हैं। मामला सोमवार को देखने को मिला जिसमें शारदा नहर लखनऊ ब्रांच के समसपुर पुल में ग्रामीणों को दो दर्जन गोवंश के सिर व पैर नहर में कटे पड़े मिले। जिस पर उन्होंने पुलिस प्रशासन को सूचना दी।
प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र मोहन सरोज अपनी टीम के साथ मौके पर पहुँच गये। इसी दौरान हिंदू वाहिनी संगठन को खबर मिल गयी। संगठन के पदाधिकारी सूरज पाण्डेय आदि ठोस कार्यवाही के लिए अङ गये। पुलिस प्रशासन के हाथ पैर फूल गये। मौके पर उपजिलाधिकारी आशीष सिंह, क्षेत्राधिकारी बघौली, थाना बघौली व कोतवाली सण्डीला ने कोई अनहोनी घटना की आशंका के चलते वहां पहुंचकर कार्यकर्ताओं को ठोस कार्यवाही का आश्वासन दिया। चौकीदारों व हिन्दू वाहिनी कार्यकर्ताओ के प्रयास से नहर से गोवंश के 24 सिर व लगभग 100 पैर व 21 खालें बरामद की गईं। मौके पर प्रभारी चिकित्साधिकारी, पशु चिकित्साधिकारी द्वारा उन गोवंशों का डॉक्टरी परीक्षण कर दफना दिया गया। क्षेत्र में बड़े पैमाने पर बंजारों द्वारा गांवों से गोवंशो को एकत्र करके सुजानपुर, टुटियारा, मल्हपुर, कटियामऊ के जंगल से लादकर गोतस्करी होने के मामले प्रकाश में लगातार आ रहे हैं, जिसमें स्थानीय पुलिस उदासीन रहती है। पुलिस ने इस मामले को दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।


रिपोर्ट- पी. डी. गुप्ता