कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

गोली लगने से घायल फ़ौजी की बेटी की इलाज के दौरान मौत

              उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक अजीब वाकया सामने आया। यहां चोर-पुलिस का खेल खेल रहे भाई ने बहन को पिस्टल से गोली मार दी। गोली मासूम बच्ची के पेट मे लगी। गोली की आवाज सुनकर कमरे पहुँचे परिजनों ने जब खून से लथपथ पड़ी बच्ची को देखा तो उनके होश फाख्ता हो गए। इसके बाद आनन-फानन में परिजन बच्ची को उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुँचे। डॉक्टरों ने बच्ची के प्राथमिक उपचार के बाद उसे लखनऊ रेफर कर दिया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी।
             मामला शहर कोतवाली के वाबन चुंगी के पास का है जहां रहने वाले राहुल सिंह आर्मी में देहरादून में तैनात है। घर पर उनकी बेटी सत्यम और दो बेटे शिवम और सुंदरम रहते है। घर के ड्राइंग रूम में पड़े बेड की दराज में राहुल सिंह की लाइसेंसी पिस्टल सुरक्षा की दृष्टि से रखी रहती है। कल शाम को तीनों भाई बहन चोर पुलिस का खेल खेल रहे थे। इस बीच कमरे से गोली चलने की आवाज आई तो बच्चो की माँ दौड़ती कमरे में पहुँची तो उनके होश उड़ गए। उनकी 13 वर्षीय पुत्री सत्यम खून से लथपथ जमीन में पड़ी थी। इसके बाद आनन-फानन में उसको उपचार के जिला अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टरों ने उसकी हालत नाजुक देखते गए लखनऊ रिफर कर दिया। लखनऊ रेफर होने के दौरान सत्यम की मौत हो गयी।परिजनों में घटना से कोहराम मचा है। एएसपी पूर्वी ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि राहुल सिंह आर्मी में नौकरी करते है। उनकी पिस्टल घर मे रखी हुई थी। घर मे बच्चे खेल रहे थे। इसी बीच गोली चली और उनकी बेटी सत्यम के पेट मे लग गई।राहुल की पिस्टल के लाइसेंस की जांच कर उसको निरस्त करने की कार्रवाई चल रही है।