कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

श्रीलंका यात्रा के पहले दिन विदेश सचिव ने भारत के सहयोग से बन रहे पलाली हवाईअड्डे का किया दौरा

चार दिवसीय यात्रा पर श्रीलंका पहुंचे विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने पहले दिन यानी 3 अक्टूबर को जाफना के उत्तरी प्रांत का दौरा किया, जहां उन्होंने भारत के सहयोग से बन रहे पलाली हवाई अड्डे के विकास और पुनर्वास की प्रगति की समीक्षा की। यह परियोजना उत्तरी प्रांत के तमिल बहुल इलाके के सामाजिक-आर्थिक कल्याण के लिए महत्वपूर्ण है।

विदेश सचिव ने त्रिंकोमाली में मौजूद तेल टैंक फार्म का किया निरीक्षण

इससे पहले विदेश सचिव श्रृंगला ने त्रिंकोमाली में मौजूद तेल टैंक फार्म का दौरा किया। श्रीलंका स्थित भारतीय दूतावास के अनुसार ”लंका इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (एलआईओसी) ने विदेश सचिव को लोअर टैंक फार्म में किए गए विकास एवं भारत-एसएल ऊर्जा साझेदारी को और मजबूत करने तथा एसएल की ऊर्जा सुरक्षा को बढ़ाने की संभावनाओं के बारे में जानकारी दी। तेल टैंक फार्म का उनका यह दौरा इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि श्रीलंका में तेल क्षेत्र के ट्रेड यूनियनों ने मांग की है कि टैंकों को राज्य ईंधन इकाई सीलोन पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीपीसी) के नियंत्रण में लाया जाए।
विदेश सचिव श्रृंगला के दिन का समापन भारतीय अनुदान सहायता से निर्मित प्रतिष्ठित जाफना सांस्कृतिक केंद्र के दौरा के साथ हुआ। उन्होंने अत्याधुनिक सांस्कृतिक केंद्र की सराहना की प्रतिष्ठित, जो उत्तरी प्रांत के लोगों को अपनी जड़ों से फिर से जोड़ने और हमारी साझा सांस्कृतिक विरासत को पोषित करने में मदद करेगा।

पवित्र दंत अवशेष मंदिर में दर्शन से की यात्रा की शुरुआत:
विदेश सचिव श्रृंगला ने अपने दौरे की शुरुआत दलदा मालिगावा यानी पवित्र दंत अवशेष मंदिर में दर्शन और आशीर्वाद लेने के साथ की। मंदिर के दियावदान निलामे ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। यह वही मंदिर है, जहां पर महात्मा बुद्ध के दांत रखे गए हैं। वर्ष 2017 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी अपनी श्रीलंका यात्रा के दौरान इस मंदिर में दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया था।

राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात:
विदेश सचिव की इस यात्रा के दौरान दोनों देश अपने द्विपक्षीय संबंधों और कई परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करेंगे। श्रीलंका के विदेश मंत्रालय के अनुसार विदेश सचिव श्रृंगला का 4 अक्टूबर को कोलंबो में उच्च स्तरीय कार्यक्रम निर्धारित हैं। वह श्रीलंका के राष्ट्रपति गातोबाया राजपक्षे, प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और विदेश मंत्री जीएल पेइरिस से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा मुख्य तमिल राजनीतिक दल, तमिल नेशनल अलायंस का एक प्रतिनिधिमंडल से चर्चा करेंगे।

(रिपोर्ट : शाश्वत तिवारी)