भ्रष्टाचार का मामला : जी०एस०आर०एम०एम०पी०जी० कॉलेज, लखनऊ में छात्रों से हो रही अवैध वसूली

कोरोना से जारी जंग में भूटान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा भारत

  • भूटान को भारत ने सौंपी चिकित्सा आपूर्ति की दसवीं खेप
  • इस बार दी 50 हजार कोविड-19 आरटीपीसीआर टेस्ट किट

14 जनवरी, नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना से जारी लड़ाई में भारत अपने पड़ोसी एवं मित्र देशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है और उनकी हर संभव सहायता भी कर रहा है। पड़ोसी देश भूटान में पिछले कुछ समय से कोरोना के मामलों बढ़ोतरी देखने को मिली है, जिसकी वजह से वहां लॉकडाउन लगाया गया है। इसको देखते हुए भारत ने एक बार फिर भूटान की तरफ मदद का हाथ बढ़ाते हुए वहां की शाही सरकार को चिकित्सा आपूर्ति की एक और खेप सौंपा है।

इस बारे में भूटान स्थित भारतीय दूतावास ने बताया कि मार्च 2020 से भूटान को भेजी गई चिकित्सा आपूर्ति की यह दसवीं खेप है। जिसमें 50 हजार कोविड-19 आरटीपीसीआर टेस्ट किट हैं। जिसे आज वहां के फुन्शोलिंग शहर में भारत के महावाणिज्यदूत प्रशांत दास ने भूटान की शाही सरकार के स्वास्थ्य महानिदेशक, पांडुप टीशरिंग को सौंप दिया है।

बता दें कि मार्च 2020 से अब तक भारत सरकार की तरफ से भेजी गई 10 चिकित्सा आपूर्ति में आवश्यक दवाएं (पैरासिटामोल, सिट्रीज़ी, हाइड्रोक्लोरोक्वीन) और चिकित्सा उपकरण (पीपीई किट, एन 95 मास्क, आरटी-पीसीआर परीक्षण किट, पोर्टेबल डिजिटल एक्स-रे मशीन) शामिल हैं। इसके अलावा भारत कोविड-19 वैक्सीन उम्मीदवारों के चरण-III के क्लीनिकल परीक्षणों में भी भूटान का सहयोग कर रहा है।

भारत कोविड-19 महामारी के स्वास्थ्य और आर्थिक प्रभाव को कम करने के लिए भूटान को हर संभव कर रहा है। इस संबंध में भूटान में भारत की राजदूत रुचिरा कांबोज ने कहा ”भूटान, भारत का हमेशा से एक विश्वसनीय भागीदार और भरोसेमंद दोस्त है। किसी भी विषम परिस्थिति में भारत, भूटान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है।”

url and counting visits