कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

राज्य में नक्सली गतिविधियां पूरी तरह नियंत्रण में, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी घूम रहा है विकास का पहिया : आदित्यनाथ योगी

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’ :-

दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आज उग्रवाद प्रभावित राज्यों की समीक्षा बैठक आहूत की गयी । बैठक की अध्यक्षता गृहमन्त्री अमित शाह ने की । इस बैठक में नक्सल प्रभावित प्रदेशों के मुख्यमन्त्री, केन्द्रीय मन्त्री व सक्षम अधिकारी मौज़ूद रहे ।

बैठक में उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री आदित्य नाथ योगी ने कहा कि राज्य में नक्सली गतिविधियां पूरी तरह नियन्त्रण में हैं और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी विकास का पहिया घूम रहा है। 

श्री योगी ने कहा कि मध्यप्रदेश से सटे मीरजापुर, बिहार, मध्यप्रदेश, झारखण्ड और छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे सोनभद्र और बिहार की सीमा से सटे चंदौली में पीएसी, सीआरपीएफ और जनपद पुलिस अपना काम मुस्तैदी से कर रही है। नक्सल व उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में पीएसी, सीआरपीएफ व जनपदीय पुलिस द्वारा कॉम्बिंग, सर्चिंग व पेट्रोलिंग आदि की कार्यवाई की जाती है। इसी क्रम में आवश्यकता पड़ने पर एटीएस व आतंकवाद निरोधी दस्ते द्वारा भी कार्यवाई की जाती है।

राज्य सरकार नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में इसके सिंडीकेट को तोड़ने के लिए किए गए उपायों के विषय में बताते हुए मुख्यमंत्री महोदय ने कहा कि हमारा निगरानी तन्त्र ऐसे स्रोत बिंदुओं पर कड़ी नज़र रखे हुए है, जहां से नक्सलियों के लिए धन की उगाही की संभावना बन सकती है। ऐसे क्षेत्रों को चिह्नित कर कार्यवाई की जा रही है। श्री योगी ने बताया कि समय-समय पर अंतर्राज्यीय समन्वय गोष्ठी का आयोजन कर सूचनाओं का आदान प्रदान किया जाता है तथा सीमावर्ती क्षेत्रों में संयुक्त ऑपरेशन भी किए जाते हैं। साथ ही इन क्षेत्रों में विकास कार्यों की गति तेज़ी से आगे बढ़ाई जा रही है।

सोनभद्र में किए जा रहे विकास के विषय में जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री महोदय ने कहा कि पीपर खाड़ में 480 छात्रों की क्षमता वाला एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय निर्माणाधीन है। कौशल विकास के लिए भवन का निर्माण भी पूरा किया जा चुका है। घोरावल तहसील में आईटीआई के मुख्य भवन का कार्य पूरा किया जा चुका है व प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हालांकि, अभी छात्रावास के भवन का निर्माण प्रारम्भ होना है।