ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

नवनिर्वाचित महिला ग्राम प्रधान की प्राथमिकता महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना

कछौना (हरदोई) : पंचायत चुनाव में महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया है। जिसके चलते महिलाओं ने गांव की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई है। आधी आबादी को लोकतंत्र में भागीदारी से लोकतंत्र को मजबूती मिली है। इस बार सरकार की जिम्मेदारी है कि उन्हें अच्छा माहौल दें। जिससे वह अपने फैसले लेने में स्वतंत्र हो सके। वह गांव में घूंघट से बाहर आकर गांव की बेहतर सरकार बनाने में अपनी भूमिका निभा सकें।

विकासखंड कछौना की ग्राम सभा कलौली की विधवा दलित महिला प्रत्याशी सुशीला देवी जिन्हें लोग प्यार से गजाईन चाची के नाम से बुलाते हैं। वह हंसमुख व मिलनसार होने के कारण लोगों ने उन्हें हाथों हाथ लिया है। जिससे वह अपने प्रतिद्वंदी कमला देवी पत्नी पुत्ती लाल को 470 मतों से शिकस्त दी। उनका जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा है। मुख्य बात यह है, वह दलित विधवा महिला होने के बावजूद अपने दम पर चुनाव लड़ी, जबकि पूर्व की सपा विधायिका राजेश्वरी देवी की भाभी है, उन्होंने वार्ता के दौरान बताया कि मेरी प्राथमिकता है कि सभी महिलाओं को महिला समूह में जोड़ कर उन्हें आत्मनिर्भर करना है। जिससे वह अपने फैसले स्वयं ले सके। महिलाओं को बेहतर माहौल देना है। जिससे वह मुख्यधारा से जुड़ सकें। ग्राम सभा के सभी फैसले खुली बैठक में लिए जाएंगे। जिससे गांव के सभी लोगों की भागीदारी हो सके। जिससे गांव का सर्वांगीण विकास हो सके। बिना भेदभाव से पात्र व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। गजाईन चाची को ग्राम प्रधान निर्वाचित होने पर ग्रामीणों में काफी खुशी की लहर है।

रिपोर्ट – पी०डी० गुप्ता

url and counting visits