कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

जिलाधिकारी को दिया गया गांव के सर्वांगीण विकास की मांग वाला ज्ञापन

*कछौना(हरदोई):* आजादी के 71 वर्ष बाद भी विकास खंड कछौना की ग्राम सभा महरी का ग्राम जालिमपुर विकास कार्यों से दूर दिखायी देता है। ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं सड़क, विद्युतीकरण, पेयजल, रोजगार से जूझ रहे है। ब्लॉक स्तर पर दर्जनों बार शिकायत के बावजूद गांव को कोई कर्मचारी झांकने नहीं गया है। आक्रोशित ग्रामीणों को बहुजन मुस्लिम महासभा के जिला अध्यक्ष फैजान अहमद उर्फ फैजी के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में पुरूष व महिलाओं ने जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया एवं गांव के सर्वांगीण विकास की मांग की।

बताते चलें कि विकासखंड कछौना की ग्राम सभा महरी के गांव जालिमपुर में आज तक कोई विकास कार्य नहीं कराया गया है। गांव के आवागमन के लिए कोई पक्की सड़क नहीं है। गांव के अंदर भी सड़कें नहीं है। गांव की आबादी लगभग 200 है। सरकार हर गांव बिजली का नारा बुलंद करें। लेकिन यह गांव विद्युतीकरण से भी वंचित है। स्वच्छ भारत मिशन के नाम पर गांव में एक भी ग्रामीण को शौचालय का लाभ नहीं मिल रहा है। जिससे गांव के वृद्धजन, पुरुष, महिलाएं व बच्चे सभी खुले में शौच जाने को विवश हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना का भी लाभ नहीं मिला है। गांव में गंदगी का अंबार है। सफाई कर्मी कभी गांव झांकने नहीं गए हैं। वर्तमान समय में हर घर में कोई न कोई बुखार से पीड़ित है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग से कोई पहुंचना मुनासिब नहीं समझा। वृद्धावस्था पेंशन, विधवा, विकलांग, लाभार्थी को पेंशन सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

जिससे अधिकांश ग्रामीणों अशिक्षा व रोजगार के अभाव में कच्ची शराब के धंधे से जुड़े है। जिसमें स्थानीय पुलिस का संरक्षण प्राप्त है। गांव के विकास के लिए बहुजन मुस्लिम महासभा के जिला अध्यक्ष फैजान अहमद उर्फ फैजी के नेतृत्व में ग्रामीण मन्नी, राजेश, सुनील कुमार, धनीराम, जालिम, रामनिवास, प्यारे लाल वर्मा, रमाकांत, श्याम, जनकदुलारी सहित सैकड़ों की संख्या में पुरूष व महिलाओं ने जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया।

रिपोर्ट- पी०डी० गुप्ता