संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

नगर पंचायत में भू-माफियाओं पर राजस्व टीम ने की कार्रवाई

कछौना, हरदोई। नगर पंचायत कछौना पतसेनी में सार्वजनिक भूमि, सड़क, पटरी, तालाब, खेलकूद मैदान, खलियान, स्कूल की भूमि व खाद के गड्ढे, गौआश्रय स्थल, जंगल झाड़ी आदि पर प्रशासन की अनदेखी के चलते धीरे धीरे कब्जा हो रहे हैं। जिससे सार्वजनिक भवन निर्माण हेतु भूमि मिलना, जल निकासी की समस्या, यातायात अवरुद्ध की समस्या खड़ी हो रही है। यहां तक इन भूमि पर अनाधिकृत निर्माण भी किये जाते है।

उपजिला अधिकारी के निर्देश पर कछौना कस्बे में राजस्व टीम गठित कर भू माफियाओं पर कार्यवाई की गई। मुख्य मार्ग पर अतिक्रमणकारियों के कारण हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है। भू-माफियाओं द्वारा अवैध कब्जे के कारण नगर पंचायत में अभी तक कूड़ा निस्तारण हेतु एमआरएफ सेंटर नहीं बनाया गया है। जिससे प्रतिदिन घरों और प्रतिष्ठानों से निकलने वाला सैकड़ों क्विंटल कूड़ा सड़क के किनारे नगर पंचायत द्वारा फेंका जा रहा है। जिससे संक्रामक बीमारी फैलने की प्रबल संभावना बनी है। नगर पंचायत के वार्ड नंबर 8 में गाटा संख्या सत्या 1719क , 1719ख पर तालाब की भूमि पर स्थानीय लोगों द्वारा कब्जा कर पाट लिया जा रहा है। जबकि सुप्रीम कोर्ट का सख्त निर्देश है कि तालाबों पर किसी तरह का कब्जा नहीं होना चाहिए, जल संचयन की विकराल समस्या खड़ी हो जाएगी।

मोहल्ला काशी नगर वार्ड संख्या 2 में गाटा संख्या 1925 खेल का मैदान व गाटा संख्या 1973 नवीन परती भूमि पर अवैध कब्जा किया गया है। नगर की काफी आबादी सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा किये है। राजस्व टीम द्वारा गुरुवार को कछौना कस्बे में अवैध कब्जा धारकों के खिलाफ अभियान शुरू किया, गाटा संख्या 161 का रकबा 0.395 हेक्टेयर, गाटा संख्या 155 का रकबा 0.340 हेक्टेयर, गाटा संख्या 156 का रकबा 0.051 दर्ज तालाब व गाटा संख्या 172 का रकबा 0.057 हेक्टेयर दर्ज अभिलेख खाद के गड्ढे, तथा गाटा संख्या 175 का रकबा 0.373 पर दर्ज कन्या पाठशाला, वार्ड नंबर 11 में कछौना बाजार पश्चिमी में नाले के पास खाली पड़ी भूमि पैमाइश पर कब्जा धारकों को एक सप्ताह के अंदर खाली कराने का कड़ा निर्देश दिया गया है।

इस टीम में अधिशासी अधिकारी रेणुका यादव, राजस्व निरीक्षक क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा अभियान चलाया गया। इस अभियान से भू माफियाओं में हड़कंप मच गया। एक सप्ताह के अंदर कब्जा न हटायें जाने पर अपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा। इस अभियान से आम आम नागरिकों में प्रशासन के प्रति विश्वास बढ़ा है।

रिपोर्ट – पी०डी० गुप्ता