ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

कोविड-19, संचारी रोग सहित अन्य कार्यक्रमों की नोडल अधिकारी ने की समीक्षा

मंझनपुर, कौशाम्बी : प्रमुख सचिव, दुग्ध विकास, मत्स्य समन्वय तथा पशुधन एवं जनपद के लिए नामित नोडल अधिकारी भुवनेश कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में कोविड-19 से संबंधित कार्यक्रमों एवं व्यवस्थाओं तथा संचारी रोग नियन्त्रण कार्यक्रम, स्वच्छता अभियान, पेयजल के संबंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी।

बैठक में नोडल अधिकारी ने कोविड अस्पताल में खान, पान, वेन्टीलेटर, टेस्टिंग किट, ऑक्सीजन, साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन एवं बेडो की संख्या सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को कोविड-19 कें संक्रमण को प्रभावी ढंग से नियन्त्रित करने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट कराये जाने के लिए कहा।

उन्होने कहा कि जितना अधिक से अधिक टेस्ट की सुविधा होगी कोरोना संक्रमण के प्रसार को उतनी ही आसानी से नियन्त्रित किया जा सकेगा। उन्होने कहा कि लोगों को जागरूक किया जाये कि जिनके अन्दर लक्षण प्रतीत हों वे स्वयं टेस्टिंग सेन्टर पर आकर अपनी सैम्पलिंग स्वयं करायें। उन्होने सर्विलांस टीम को डोर-टू-डोर सर्वे कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करते हुए लक्षण प्रतीत होने वाले व्यक्तियों को नजदीकी टेस्टिंग सेन्टर पर लाकर उनकी जॉच कराये जाने के लिए कहा। नोडल अधिकारी ने जन जागरूकता अभियान कार्यक्रम को निरन्तर चलाते हुए लोगों को इस बात के लिए जागरूक करने को कहा कि जिस व्यक्ति में कोई भी लक्षण प्रतीत हो वे स्वयं जनपद में बनाये गये टेस्टिंग सेन्टर में जाकर अपनी निःशुल्क जॉच करायें।

नोडल अधिकारी ने होम आइसोलेशन की व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि हेम आइसोलेशन के लिए निर्धारित मानक को पूर्ण करने वाले व्यक्तियों को ही होम आइसोलेशन की अनुमति दी जाये। नोडल अधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य संबंधित अधिकारियों से कहा कि पूर्ण प्रयास किया जाये कि कोविड के कारण किसी भी व्यक्ति की मृत्यु न होने पाये।

नोडल अधिकारी ने चलने वाले संचारी रोग नियन्त्रण कार्यक्रम का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक करने का निर्देश दिया है। उन्होंने संचारी रोग नियन्त्रण कार्यक्रम अभियान के अन्तर्गत साफ-सफाई, कचरा निस्तारण, शुद्ध पेयजल उपलब्धता पर विशेष जोर देते हुए इसके व्यापक प्रचार-प्रसार करने का निर्देश सभी अधिकारियों को दिया है। उन्होने ग्रामीण क्षेत्रों एवं शहरी क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की उपलब्धता, सेनेटाइजेशन एवं साफ-सफाई निरन्तर कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने कुपोषित एव अति कुपोषित बच्चों का एनआरसी में भर्ती करने तथा उनको पौष्टिक आहार देने के लिए कहा है।

बैठक में जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त करते हुए कहा कि आपके द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चि किया जयेगा। उन्होंने कोविड-19 से संबंधित कार्यक्रमों, जॉच, कोविड अस्पतालों में की गयी व्यवस्थाओं तथा जनपद के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में चलाये जा रहे टेस्टिंग अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने संचारी रोग नियन्त्रण कार्यक्रम हेतु ग्रामीण क्षेत्रों, नगरीय क्षेत्रों एवं शहरी क्षेत्रों में नाले एंव नालियों की साफ-सफाई जल भराव न होने देने, चूने व ब्लीचिंग का छिड़काव कराये जाने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया है। उन्हेने प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में कूड़ा एकत्र न होने देने साफ-सफाई एवं सेनेटाइजेशन निरन्तर कराते रहने का निर्देश दिया है। बैठक में जिला विकास अधिकारी श्री विजय कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 पीएन चतुर्वेदी, सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

मंझनपुर से विजय करन जी की रिपोर्ट

url and counting visits