ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

सर्विलांस अधिकारी को कोरोना के सर्वे की जानकारी नहीं नोडल अधिकारी ने लगाई फटकार

बदायूँ: आयुक्त बरेली मण्डल बरेली एवं जनपद के नोडल अधिकारी रणवीर प्रसाद के जनपद में पहुँचने पर स्वागत कर उनको गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। शुक्रवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में उन्होंने जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत सहित जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ जनपद में संचारी रोग नियंत्रण, स्वच्छता, अभियान, शुद्ध पेयजल व्यवस्था, जलभराव, फाॅगिंग एवं बाढ़ की रोकथाम आदि के सम्बंध में समीक्षा बैठक की।

नाला सफाई समय से न होने पर नोडल अधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट अमित कुमार के प्रति नाराज़गी व्यक्त करते हुए सफाई कार्य जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि नालों से निकली गंदगी को तत्काल उठवाएं, इस प्रकार गंदगी के ढेर न लगने दें। जनपद में कहीं भी जलभराव की समस्या नहीं होना चाहिए। शुद्ध पेयजल का प्रयोग किया जाए। बरसात को दृष्टिगत रखते हुए ज्यादा से ज्यादा मजदूर लगाकर निर्माण एवं सफाई कार्य पूर्ण कराएं। निर्माण कार्य की गति बढ़ाकर जल्द पूर्ण कराएं। जहाँ भी अवैध अतिक्रमण है उसे जल्द से जल्द हटवाया जाए। जलभराव की समस्या को किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। संचारी रोग की रोकथाम के लिए सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाए। एंटी लारवा एवं फाॅगिंग का कार्य नियमित रूप से होता रहे। सभी निकायों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था रहे। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी अरुण कुमार जादौन को निर्देश दिए कि गंगा किनारे के गांवों में शतप्रतिशत पशुओं का टीकाकरण करा लिया जाए। उन्होंने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी कार्यालयों में हेल्पडेस्क की व्यवस्था की जाए। यदि किसी कर्मचारी को खांसी, बुखार, जुकाम, सांस लेने में दिक्कत आदि जैसी कोई समस्या है तो उसकी कोरोना की जांच कराई जाए, रिपोर्ट आने तक उसे घर क्वारंटाइन रहने की सलाह दी जाए।

अधिकारियों एवं कर्मचारियों के फोन में शतप्रतिशत आरोग्य सेतु एप की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। मौहल्लो एवं गांवों में जो भी कार्य कराए जाएं, वहां के निवासियों से इस कार्य के प्रमाण के लिए मोबाइल नम्बर सहित हस्ताक्षर भी करा लिए जाएं। गांवांें को जाने वाले मार्गाें में किसी प्रकार की गंदगी न हो। उन्होंने डीपीआरओ डाॅ0 सरनजीत कौर को गांवों में विशेष सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बाढ़खण्ड अभियन्ता को निर्देश दिए कि बाढ़ में भी आवश्यक व्यवस्था पूर्ण करना सुनिश्चित करें, जो भी नांवें लगाई जाएं, वे ठीक प्रकार की होना चाहिए। इसके साथ मोटर वोट भी रखी जाए। सम्बंधित उपजिलाधिकारी बाढ़ चैकियों का निरीक्षण करें। बाढ़ का एक व्हाट्सएप ग्रुप बना लिया जाए।

उन्होंने कोविड-19 की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि सर्विलांस टीम द्वारा कोरोना वायरस का हाउस सर्वे घर-घर जाकर किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नहीं की जाएगी। उन्होंने जिला सर्विलांस अधिकारी से सर्वे की स्थिति जानी तो वह नोडल अधिकारी के किसी प्रश्न का उत्तर नहीं दे पाए। नोडल अधिकारी ने उनकी कड़ी फटकार लगाते हुए कार्य में लापरवाही न करने की चेतावनी दी हैै। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 यशपाल सिंह को निर्देश दिए कि ऐसे लापरवाह चिकित्सकों की निगरानी की जाए। कार्य में लापरवाही करने वाले ऐसे चिकित्सकों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए। कोरोना भयंकर बीमारी है, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता को क्षम्य नहीं किया जाएगा।

उन्होंने संचारी रोग नियंत्रण हेतु निर्देश दिए कि मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों में बचाव कार्य युद्ध स्तर पर किए जाएं। स्लाइड एवं आरडीटी की जांच नियमित रूप से होती रहे। मलेरिया के केस का शतप्रतिशत फाॅलोअप किया जाए। मलेरिया धनात्मक रोगी की दवा सेवन आशा की निगरानी में किया जाए। उसने दवा का पूरा सेवन कर लिया है आशा से इसका प्रमाणीकरण लिया जाए। उसके बाद मरीज में लक्षण मिले तो सम्बंधित आशा के विरुद्ध कार्यवाही की जाए। गांवांे में दवा का छिड़काव प्रधान अपनी निगरानी में कराएं। इसके लिए कट्रोल रूम स्थापित किया जाए। मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत इसकी माॅनीट्रिंग करें। इस अवसर पर समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

url and counting visits