ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

टीम पी०बी०आर० विज्ञान क्लब ने दो नये क्षुद्रग्रहों की खोज कर पुनः हरदोई का नाम किया रोशन

कु० साक्षी द्विवेदी (छात्रा) ने दो नये ऐस्टेरायड खोजे

आदित्य त्रिपाठी (मानद प्रबन्ध निदेशक)

आदित्य त्रिपाठी
(निदेशक, आईवी २४ न्यूज़)

नासा की अन्तर्राष्ट्रीय ऐस्ट्रोनामिकल सर्च कोलेब्रेशन के तत्वावधान में विपनेट (विज्ञान प्रसार, भारत सरकार) के सहयोग से इग्नाइटेड मांइन्ड्स- स्काइऐक “सप्तर्षि इण्डिया” ऐस्टेरायड सर्च कैम्पेन 3 मई से 28 मई तक चला। जिसमें पीबीआर विज्ञान क्लब के समन्वयक प्रदीप नारायण मिश्र सहित तीन अन्य सदस्यों रघुनंदन शर्मा (शिक्षक), शिवम मिश्र (छात्र ,लखनऊ विश्वविद्यालय), कु०आकांक्षा मिश्रा (छात्रा, क्रिश्चियन डिग्री कालेज, लखनऊ) ने  नागरिक वैज्ञानिक के रुप में प्रतिभाग किया।

प्रदीप नारायण मिश्र और शिवम मिश्र ने एक-एक  नये क्षुद्रग्रह की खोज की जिसे टीम रिकॉर्ड में क्रमशः VIS1006 , VIS3005 नाम दिया गया। इन क्षुद्रग्रहों को  क्रमशः P11g3CU व P11g2IC वैज्ञानिक नाम दिया गया है। कुछ वर्षों तक इनकी  आकाश में मौजूदगी के अध्ययन पश्चात इनके नामकरण का अवसर इनके खोजकर्ताओं को मिलेगा। अन्तरिक्ष मेँ मौजूद पिण्डों पर नजर रखने हेतु नासा द्वारा सिटीजन सांइटिस्ट प्रोग्राम हर माह चलाया जाता है।

विगत अक्टूबर-नवम्बर माह कैम्पेन में भी विज्ञान संचारक प्रदीप नारायण मिश्र द्वारा 3 व शिवम मिश्र द्वारा 1 नये क्षुद्रग्रह की खोज की गई थी। इस मई माह के कैम्पेन में प्रदीप मिश्र के नेतृत्व में सप्तर्षि विपनेट (इण्डिया) ऐस्ट्रोनामर, टीम 08 के तीन अन्य सदस्यों मनोज कुमार (शिक्षक), रोहित कुमार (छात्र) व कु० साक्षी द्विवेदी (छात्रा) में से कु० साक्षी ने दो नये ऐस्टेरायड खोजे। सप्तर्षि विपनेट(इण्डिया) ऐस्ट्रोनामर : टीम 08 ने कुल चार नये ऐस्टेरायड खोज की।

url and counting visits