संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

डीएम, एसएसपी ने प्रवासी मजदूरों से जाना हाल

बदायूँ: जनपद में आने वाले प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण कर रहे लेखपालों को डीएम ने निर्देश दिए कि प्रवासी मजदूरों का आधार एवं मोबाइल नम्बर पंजीकरण कराएं। स्क्रीनिंग में संदिग्ध पाए जाने वाले प्रवासी मजदूरों का सेम्पल लेकर उन्हें चिन्हित स्थानों पर क्वारंटीन किया जाए तथा स्क्रीनिंग में सही पाए जाने वाले प्रवासी मजदूरों का उनका पंजीकरण कर राहत सामग्री किट देकर उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाए।

बुधवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने द्रोपदी देवी सरस्वती विद्या इण्टर कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट अमित कुमार को निर्देश दिए कि इस विद्यालय में क्वारंटाइन लोगों के लिए शौचालय आदि की व्यवस्था साफ सुथरी ठीक होनी चाहिए। क्वारंटीन लोगों के विस्तर, भोजन आदि व्यवस्थाएं चाक-चैबंद रखी जाए। किसी को किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। डीएम ने निर्देश दिए कि सारी व्यवस्थाएं समय से उपलब्ध रहें, जिससे लोगों को किसी प्रकार की कोई समस्या न होने पाए। सभी श्रमिकों के लिए गुणवत्ता युक्त भोजन की व्यवस्था रहे। उन्हें समय-समय पर नाश्ता व भोजन आदि उपलब्ध कराया जाए। किसी अन्य के संपर्क में न आने पाए इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए। फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, पानी व रहने की व्यवस्थाएं दुरुस्त रहें। जनपद में आने वाले सभी प्रवासी श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सही पाए जाने पर उनके घर भेजा जा रहा है। जहां वह 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन रहेंगे। डीएम ने निर्देश दिए कि ठहरे हुए श्रमिकों के लिए ओआरएस एवं गुड़ भी रखा जाए। उन्होंने श्रमिकों से उनका हाल व मौजूद व्यवस्था के बारे में जानकारी ली।

तत्पश्चात डीएम एवं एसएसपी ने शहर में लाॅकडाउन का निरीक्षण किया। उन्होंने लोगों से अपील की कि कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव के लिए घरों में अधिक समय बिताएं। दुकानदार रोस्टर के अनुसार निर्धारित दिनों पर ही अपनी दुकान प्रातः 09 बजे से अपरान्ह 02 बजे तक ही खोलें, ग्राहक खरीदारी करके सीधे अपने घर जाएं। बेवजह भीड़ न इकट्ठी होने पाए। लाॅकडाडन का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। कोरोना को कतई हल्के में न लें। जरा सी लापरवाही जीवन के लिए घातक बन सकती है। अपना और अपने परिवार के लिए बताए गए इन नियमों का पूर्णतया पालन करें। फिजीकल डिस्टेंस का पालन खुद भी करें और दूसरों को भी कराएं, तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए घर ही रहना एवं फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करना ही प्रभावी उपाय है। खांसते, छींकते समय मुंह को रूमाल व टिश्यू से ढकें। हाथों को समय-समय पर साबुन से धोते रहे या सेनीटाइजर से साफ करें। मुंह ढकने के लिए मास्क, गमछा, तौलिया, दुपट्टा या रुमाल का प्रयोग करें, बुर्जुगों एवं बच्चों का विशेष ध्यान रखे। सभी लोग घर में रहें, सुरक्षित रहें, स्वस्थ्य रहें।