कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

जयशंकर ने ब्रिटेन के व्यापार मंत्री से की मुलाकात

विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने गुरुवार को ब्रिटेन के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार विदेश मंत्री ऐनी-मैरी ट्रेवेलियन से मुलाकात की और मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) की वार्ता शुरू होने का स्वागत किया। भारत और ब्रिटेन ने प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) के लिए बृहस्पतिवार को औपचारिक रूप से बातचीत की शुरुआत की। इस समझौते से 2030 तक द्विपक्षीय कारोबार को दोगुना करने में मदद मिलेगी और दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ावा मिलेगा।

एफटीए वार्ता शुरू करने का किया स्वागत।

इस बारे में विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट कर कहा अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के लिए ब्रिटेन के विदेश मंत्री ऐनी-मैरी ट्रेवेलियन से मिलकर खुशी हुई। एफटीए वार्ता के शुभारंभ का स्वागत किया। हमारी प्राकृतिक समानताओं पर अच्छी चर्चा हुई। न्यू इंडिया और ग्लोबल ब्रिटेन मिलकर काम करके बड़ा बदलाव ला सकते हैं।

वहीं गुरुवार को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और यूके के व्यापार सचिव, ऐनी-मैरी ट्रेवेलियन ने नई दिल्ली में ट्रेवेलियन से मुलाकात की और एफटीए पर बातचीत की औपचारिक शुरुआत भी की।

इसके बाद भारत-यूके ने संयुक्त बयान जारी कर कहा कि भारत-ब्रिटेन मुक्त व्यापार समझौता दोनों देशो की अर्थव्यवस्थाओं के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर होने के साथ ही भारत-यूके द्विपक्षीय संबंधों में और मजबूत करेगा।

बयान में यह भी कहा गया कि भारत-ब्रिटेन द्विपक्षीय व्यापार संबंध पहले से मजबूत हुए हैं। मई 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन द्वारा घोषित रोडमैप के हिस्से के तौर पर दोनों पक्ष 2030 तक उस द्विपक्षीय व्यापार को दोगुना करने के लिए सहमत हुए हैं। दोनों देश नौकरियों, व्यवसायों और समुदायों की सहायता करने वाले पारस्परिक रूप से लाभकारी समझौते पर सहमत हुए हैं।

(रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी)