संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

विप सदस्य अवनीश कुमार सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कछौना को लिया गोद

कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के चलते सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया सघन निरीक्षण

कछौना (हरदोई) : कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका के चलते स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे को बेहतर करने व टीकाकरण शतप्रतिशत कराने के लिए सरकार ने कमर कस ली है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने हम सब को झकझोर दिया हैं। स्वास्थ्य सेवाओं में कमियों को स्वीकार करते हुए उन्हें दूर करने की दिशा में विधान परिषद सदस्य इंजीनियर अवनीश कुमार सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कछौना को गोद लिया हैं। शुक्रवार को उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का सघन निरीक्षण किया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की मूलभूत समस्याओं से रू-ब-रू हुये। जिसके लिए उन्होंने भाजपा कार्यकर्ता, जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी व एचसीएल फाउंडेशन की देखरेख में एक कमेटी गठित की। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सभी को मिलकर एक बेहतर माहौल देना हैं। जिससे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को आदर्श बनाया जा सके।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कछौना 1 लाख 90 हजार की आबादी को स्वास्थ्य सेवा का लाभ देता है। इतनी बड़ी आबादी को स्वास्थ्य लाभ देने के लिए स्टाफ की कमी एक बड़ा मुद्दा है। स्वास्थ्य कर्मियों को जुटाना महत्वपूर्ण है। कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण मात्र एक विकल्प है। यह सबसे बड़ा हथियार है, तथा टीकाकरण के लिए जन भागीदारी आवश्यक है। नगर में वार्ड वार कैंप आयोजित किए जाएं, पंजीकरण के लिए जनसेवा केंद्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर हेल्पडेस्क बनाई जाए, जहां पर कोई व्यक्ति अपना रजिस्ट्रेशन करा सकें। वैक्सीन की उपलब्धता भी आवश्यक है। स्कूलों में अभिभावकों को जागरूक किया जाए, जिससे जल्दी से स्कूलों में शिक्षण व्यवस्था शुरू हो सकें। ओपीडी मरीजों के मोबाइल नंबर दर्ज किए जाएं, उनका फीडबैक लिया लिया जाये, जिससे स्वास्थ्य विभाग की जवाबदेही तय हो। अच्छे डॉक्टरों को उत्साहित करने के लिए उन्हें पुरस्कृत किया जायेगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जलभराव और गंदगी व बड़ी झाड़ी देखकर तत्काल साफ सुथरा करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के एक परिसर में भूमि विवाद होने के कारण बाउंड्री वाल नहीं बन पा रही है। जिसके कारण आवारा पशु बने रहते हैं।

अल्ट्रासाउंड मशीन एचसीएल फाउंडेशन द्वारा लाखों रुपए की उपलब्ध कराई गई, परंतु स्टाफ न होने के कारण वह शोपीस बनी हैं। वहीं एक्सरे मशीन भी नहीं है। वहीं महिला डॉक्टर नियमित रूप से नहीं आती हैं। जिससे गर्भवती महिलाओं को काफी दिक्कत होती है। विधान परिषद सदस्य इंजीनियर अवनीश कुमार ने बताया ग्राम सभाओं में स्थित स्वास्थ्य उप केंद्रों को विकसित किया जायेगा, वहां पर एएनएम की उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाएगी। जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का बेहतर लाभ मिल सके। ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य समितियों को सक्रिय किया जाएगा। स्वास्थ सेवाओं का रोड मैप तैयार किया गया। टीकाकरण में हमने वैश्विक स्तर पर बेहतरीन स्थिति में हैं। बीमारियों की रोकथाम में स्वच्छता की अहम भूमिका है।

इस अवसर पर डॉ० किसलय बाजपेई, जिला महामंत्री अजीत सिंह बब्बन, अधिशासी अधिकारी रेणुका यादव, नगर प्रतिनिधि विकास विश्वकर्मा उर्फ गोल्डी, जिला अध्यक्ष भाजपा युवा मोर्चा आकाश सिंह, मंडल अध्यक्ष नवीन पटेल, मंडल महामंत्री शिवम मिश्रा, अनूप सिंह, अतुल सिंह, शंखशरण सिंह, प्रधानाचार्य राम शंकर शुक्ला, लैब टेक्नीशियन विकास सिंह, प्रवीण कुमार, मनोज कुमार सिंह, अमित सिंह, राजेश सिंह सहित समस्त स्टाफ मौजूद रहा। विधान परिषद सदस्य इंजीनियर अवनीश कुमार सिंह ने कहा सरकार स्वास्थ सेवाओं को बेहतर करने के लिए सदैव प्रयासरत हैं। आपको शीघ्र बदलाव नजर आएगा।

रिपोर्ट – पी०डी० गुप्ता