संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

विश्व के सबसे लंबे वर्चुअल कवि सम्मेलन में काव्यपाठ करने पर डॉ. राजेश पुरोहित काव्यश्री सम्मान से सम्मानित

भवानीमंडी :- रुद्रपुर उत्तराखंड की साहित्यिक संस्था बुलंदी जज्बात ए कलम द्वारा अन्तराष्ट्रीय स्तर का विश्व के सबसे बड़े वर्चुअल कवि सम्मेलन का 11 जुलाई से 20 जुलाई 2021 तक चला।

इस ऑनलाइन कवि सम्मेलन को इंडिया वर्ल्ड रिकॉर्ड ने विश्व के सब्स बड़े 207 घण्टे तक लगातार चलने वाले कवि समनेलन के रूप में दर्ज किया गया है। कवि सम्मेलन में देश विदेश सहित 800 कवि कवयित्रियों ने हिस्सा लिया। काव्य पाठ के क्रम में भवानीमंडी जिला झालावाड़ राजस्थान के कवि डॉ. राजेश कुमार शर्मा पुरोहित ने अपनी कविताओं के माध्यम से राष्ट्र जागरण किया।उन्होंने कोरोना काल मे सकारात्मक सोच रखने की बात को कविता में कहा कि “छूना चाहते हो बुलंदी को अगर जमाने की तुम। सकारात्मक सोच रखो सदा जहन में तुम।।” प्रकृति में बढ़ रहे प्रदूषण वैश्विक महामारी से जुड़ी उनकी रचना “परिंदे उन्मुक्त उड़ रहे आसमां में, आदमी मगर कैद है अपने मकानों में।” बेटियों पर उनकी कविता “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ यह तो केवल नारा है देखो मन का दर्पण फिर बेटी ही एक सहारा है” और शहर का नाम रौशन किया। बुलंदी जज़्बात ए कलम संस्था द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम इंडिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होकर यादगार कार्यक्रमों में शामिल होगा l कार्यक्रम का प्रसारण बुलंदी पोएट्री के ऑफिशियल चैनल से किया गया।

डॉ. पुरोहित ने बताया कि उन्हें हिन्दी साहित्य को समृद्ध करने, लेखन के माध्यम से उत्कृष्ट अवदान करने हेतु काव्य श्री सम्मान से सम्मानित किया गया है। उन्हें यह सम्मान विवेक बादल बाजपुरी संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष, राकेश शर्मा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मातृका बहुगुणा राष्ट्रीय सचिव अभिषेक मिश्रा राष्ट्रीय संगठन मंत्री के कर कमलों से ऑनलाइन प्रदान किया गया।
बलंदी जज़्बात-ए-कलम साहित्यिक संस्था उत्तराखंड के बाजपुर से संचालित होती है जिसके संस्थापक बादल बाजपुरी हैं l

इस कवि सम्मेलन में कनाडा , जर्मनी , दुबई ,सऊदी ,यू इस ए बेल्जियम , केलिफोर्निया, आबू धाबी , सिंगापुर तक के कवि सहित कुल 800 से ज्यादा कलमकारों ने काव्य पाठ किया।