मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

लापता रेलकर्मी को बरामद कर पुलिस ने किया पर्दाफाश, स्वयं रची थी अपहरण की साजिश

फॉलोअप

कछौना (हरदोई)। कछौना पुलिस ने लापता रेलकर्मी को बरामद कर उसके द्वारा स्वयं का अपहरण दिखाने की साजिश का खुलासा करते हुए मामले की गुत्थी सुलझाने में सफलता हासिल कर ली। प्रभारी निरीक्षक हंसमती ने मंगलवार को प्रेसवार्ता के दौरान पूरे मामले का खुलासा करते हुए इसकी जानकारी दी।

बताते चलें कि कस्बे के रेलवेगंज स्थित स्थित बुद्ध बिहार कॉलोनी निवासी रेलकर्मी (गैंगमैन) कमल किशोर उर्फ मोनू बीते रविवार 6 दिसंबर की सुबह लगभग सात बजे घर से ड्यूटी पर जाने की बात कहकर निकला था और ड्यूटी पर पहुंचे बिना गायब हो गया। रेलकर्मी की पत्नी सावित्री ने कोतवाली क्षेत्र के ग्राम हरदेवनखेड़ा मजरा लोन्हारा निवासी जयराम पर अपने पति कमल किशोर के अपहरण का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी, जिस पर स्थानीय पुलिस द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही न किए जाने से नाराज परिजनों ने जिला मुख्यालय स्थित एसपी ऑफिस जाकर फरियाद लगाई। जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा त्वरित कार्यवाही व मामले की जांच के आदेश दिए गए थे।

पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स के निर्देश तथा अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी अनिल कुमार यादव व क्षेत्राधिकारी उमाशंकर सिंह के पर्यवेक्षण में मामले की गहनता से जांच पड़ताल में जुटी गठित कछौना पुलिस टीम ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए लापता रेलकर्मी को संडीला क्षेत्र के बरौनी रेलवे क्रॉसिंग के पास से सकुशल बरामद किया। कछौना पुलिस पहले से ही पूरे मामले को संदिग्ध मान रही थी, जिसे पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान रेलकर्मी ने स्वयं को अपरहण कराने की झूठी साजिश रचने की बात स्वीकार कर सही साबित कर दिया।

लड़की की शादी रुकवाने को लेकर रची थी साजिश

कोतवाली परिसर में मंगलवार को पूरे मामले के खुलासे को लेकर आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान प्रभारी निरीक्षक हंसमती ने बताया कि बरामद लापता रेलकर्मी ने पूछताछ के दौरान बताया कि एक लड़की की शादी रुकवाने को लेकर उसने स्वयं का झूठा अपरहण की साजिश रची थी। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि घटना में संलिप्त अन्य लोगों की जानकारी हेतु पूछताछ व जांचकर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। वहीं लड़की को रेलकर्मी की प्रेमिका बताया जा रहा है जिसकी शादी को रुकवाने के लिए रेलकर्मी ने स्वयं के झूठे अपरहण की योजना को अमलीजामा पहनाया था।वहीं जयराम उसी लड़की का पिता है,जिस पर रेलकर्मी की पत्नी ने अपहरण का आरोप लगाया था।