कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

लोहड़ी है हमारा पवित्र त्योहार

लोहड़ी है हमारा पवित्र त्योहार,
घर-घर मे है खुशियाँ हजार।
लोहड़ी है हमको भायी,
सबके चेहरे पर खुशियाँ लायी।
खुशी-खुशी लोहड़ी मनाते हैं,
एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं।
नए नए पकवान बनाते हैं,
इस त्यौहार को मजेदार बनाते हैं।
मूंगफली गजक रेवड़ी चिवा गुड़ लाते हैं,
इन सब को मिलाकर तिल चोली बनाते हैं।
घर-घर जाकर बच्चे लुकड़ियां गाते हैं,
इस त्योहार को यादगार बनाते हैं।
ढेर सारी खुशियाँ आयी हैं ,
लोहड़ी की शुभकामना लायी हैं ।

आपको और आपके परिवार को लोहड़ी के त्यौहार की हार्दिक शुभकामना।

संजना 11वीं कक्षा की छात्रा कांगड़ा/ हिमाचल प्रदेश।