सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की विद्यार्थियों के लिए उपयोगी पुस्तकें

November 27, 2022 0

कृतियाँ :– ‘मीडिया और प्रेस-विधि’ और ‘प्रयोजनमूलक हिन्दी’ ‘सामयिक प्रकाशन’, दिल्ली (स्वामी– श्री महेश भारद्वाज) से एक साथ प्रकाशित हुई थीं और आज ही के दिनांक (२६ नवम्बर) मे हस्तगत हुई थीं। दोनो ही पुस्तकें […]

सवैया छंद संग्रह “छगन छंद सवैया” की समीक्षा

July 15, 2022 0

कृति:- छगन छन्द सवैया (सवैया छन्द संग्रह)रचनाकार:- डॉ.छगनलाल गर्ग “विज्ञ”प्रकाशक:- उत्कर्ष प्रकाशन,मेरठ केंटप्रथम संस्करण:- 2021मूल्य:- 250 रुपयेपृष्ठ-112 प्रस्तुत कृति छगन छन्द सवैया ग्राम जीरावल जिला सिरोही राजस्थान के निवासी सेवानिवृत प्राचार्य छंद विशेषज्ञ वरिष्ठ कवि […]

परिचर्चा : निर्गुण काव्य परम्परा के संवाहक संत रैदास

March 29, 2022 0

दिनांक 18 फरवरी 2022 को इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग द्वारा आयोजित शुक्रवारीय परिचर्चा ऑनलाइन मो में सम्पन्न हुई थी । परिचर्चा का विषय “निर्गुण काव्य परम्परा के संवाहक संत रैदास ” लीक से हटकर […]

कैप्टन अनुज नैय्यर की कहानी, उनकी माँ मीना नैय्यर की जुबानी : “द टाइगर ऑफ़ द्रास”

March 29, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’— कारगिल युद्ध के अमर नायकों मे से एक नायक कैप्टन अनुज नैय्यर आपको याद हैं! टाइगर हिल की सोलह हजार फ़ीट ऊँची पश्चिमी चोटी प्वाइंट 4875 (जिसे पिंपल-टू भी कहा जाता […]

फ़िल्म समीक्षा : सच का एहसास कराने में कामयाब है “द कश्मीर फ़ाइल्स”

March 22, 2022 0

“द कश्मीर फ़ाइल्स” अच्छी या बुरी की बहस से परे मैं एक ज़रूरी फ़िल्म मानता हूँ इसे : सन्त समीर फ़िल्में कम ही देख पाता हूँ, पर कुछ दिनों में इसकी चर्चा इतनी बार सुनी […]

जो कभी झुका नहीं : समयसत्य वृत्तान्त

November 16, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय कृति ‘जो झुका नहीं’ संस्मरण-प्रधान है, जिसका नामकरण समयसापेक्षहै। इसके कृतिकार अपने समय के प्रतिष्ठित पत्रकार अग्रज-सम कृष्णमोहन अग्रवाल जी हैं, जो अपने पत्रकारिता के स्वर्णिम काल में ‘के० एम० […]

गुरुदेव ‘आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय जी’ की कृति– ‘समग्र सामान्य हिन्दी’ नवम्बर-माह से उपलब्ध

October 24, 2021 0

● राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’ चिर-प्रतीक्षित ‘समग्र सामान्य हिन्दी’ की सम्पूर्ण सामग्री मुद्रणार्थ सम्बन्धित मुद्रणालय में प्रेषित की जा चुकी है। अगले सप्ताह तक मुद्रित होकर सप्ताहान्त से नवम्बर के प्रथम सप्ताह तक ‘अमेज़न’, ‘फ़्लिप […]

‘समग्र सामान्य हिन्दी’ : देश के प्रत्येक प्रतियोगी विद्यार्थी के लिए उपयोगी और महत्त्वपूर्ण

October 8, 2021 0

★ समीक्षक– राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की अब तक की प्रकाशित सभी सामान्य हिन्दी की पुस्तकों :– ‘नालन्दा सामान्य हिन्दी’, ‘मानक सामान्य हिन्दी’, ‘बृहद् सामान्य हिन्दी’, ‘प्रामाणिक सामान्य हिन्दी’, ‘संजीवनी वस्तुनिष्ठ […]

रहस्य-रोमांच का अनुभव कराता रहा ‘टोक्यो-ओलिम्पिक– २०२०’

August 11, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय(भाषाविज्ञानी, समीक्षक तथा ‘ओलिम्पिक एन्साइक्लोपीडिया’ के लेखक) २३ जुलाई, २०२१ ई० को वर्ष २०२० के ओलिम्पिक के रूप में जापान की राजधानी ‘टोक्यो’ में ग्रीष्मकालीन ओलिम्पिक का उद्घाटन हुआ था। यों […]

प्रेमचन्द के बाद धीमा होता कहानी का सफ़र, क्यों?

July 31, 2021 0

आज (३१ जुलाई) प्रेमचन्द की जन्मतिथि है। ★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय कथा-विषय पर जब संवाद-परिसंवाद होता है तब समीक्षक पारदर्शिता के साथ ‘प्रेमचन्द’ से आगे बढ़ नहीं पाता है। यह अलग बात है कि […]

‘ओलिम्पिक एन्साइक्लोपीडिया’ आज भी प्रासंगिक है

July 22, 2021 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’ : जैसा कि हमारे पाठकों को ध्यान होगा कि आज (२३ जुलाई) से विश्व की सबसे बड़ी खेल-प्रतियोगिता ‘ओलिम्पिक’ का समारम्भ हो चुका है। यह ओलिम्पिक चार वर्षों के अन्तराल पर […]

सौगंद अकबरियन की नयी पुस्तक “लवलेस लव (Loveless Love)”

June 27, 2021 0

अंजलि तिवारी : हमारा यह हीरोज़ इग्नोटम एक ऐसा मंच है जिस पर प्रतिभाशाली, फेमस-अनफेमस, अनसीन और सारे टैलेंट्स, फ़ील्ड्स के लोग के पीछे के संघर्ष की कहानी को आप सब तक पहुंचाते है । […]

सिख इतिहास और चमकते सितारे

March 12, 2021 0

प्रभात रंजन त्रिपाठी (संवाददाता, दिल्ली) वैसे तो देश को आजाद कराने में सभी धर्मों का अमूल्य योगदान रहा है, परन्तु सिख समुदाय को भी भुलाया नहीं जा सकता। अपनी किताब “सिख इतिहास के चमकते सितारे” […]

सार्वजनिक होतीं ‘आरोपित एकांत’ और ‘जान है तो जहान है’ कृतियाँ

January 16, 2021 0

दो पुस्तकें ‘आरोपित एकांत’ और ‘जान है तो जहान है’ क्रमश: गद्य और पद्य-विधाओं के माध्यम से कोरोना के ‘कृष्ण’ और ‘शुक्ल’-पक्षों का जीवन्त चित्रण करती हैं। ये दोनों ही कृतियाँ समय-सत्य हैं, जिनका सामग्री-संकलन […]

जायसी का ‘पद्मावत’ : एक अनुशीलन

November 20, 2020 0

साहित्य-परिशीलन — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ‘पद्मावत’ महाकाव्य भारतीय परिभाषा के अन्तर्गत नहीं आता। उसे एक बृहद् खण्ड काव्य कहा जा सकता है। ऐसा इसलिए कि उसमें कथा की धारा सर्गों में विभाजित न होकर, […]

पुस्तक समीक्षा : कविता सङ्कलन ख़्यालों का बागीचा

February 15, 2020 0

लेखिका:-चाँदनी सेठी कोचर प्रकाशक:- अंतरा शब्द शक्ति प्रकाशन वारासिवनी मध्यप्रदेश संस्करण:- प्रथम 2019 मूल्य:- 40 रुपये समीक्षक:- डॉ. राजेश कुमार शर्मा”पुरोहित” साहित्य भूषण सम्मान से सम्मानित दीप देहरी लघुकथा संग्रह ,की लेखिका देश की ख्यातिनाम […]

पुस्तक समीक्षा, कृति : मूर्खमेव जयते युगे युगे

December 9, 2019 0

लेखक:- विनोद कुमार विक्की प्रकाशक:- दिल्ली पुस्तक सदन शाहदरा, नई दिल्ली पृष्ठ:-119 संस्करण:- प्रथम, 2020 समीक्षक:-राजेश कुमार शर्मा ‘पुरोहित‘ तेरी भौं भौं मेरी म्याऊं में नेताओ के झूंठे वादे के बारे में बताया की नेता […]

पुस्तक समीक्षा, कृति :- काव्यमेध

November 24, 2019 0

लेखिका:- अर्चना पाण्डेय प्रकाशक:- साहित्य संगम प्रकाशन, इंदौर पृष्ठ:- 23 संस्करण:- 2019 (प्रथम) समीक्षक:- राजेश कुमार शर्मा “पुरोहित” अध्यक्षीय में राजवीर सिंह मन्त्र लिखते हैं कि हर रचनाकार के मन मे ये होता है कि […]

पुस्तक समीक्षा : अपनी माटी और मानुष के अभिन्न सम्बन्धों की सुगन्ध बिखेरने वाला संग्रह है ‘मिट्टी मेरे गाँव की’

November 8, 2019 0

लेखिका – जयति जैन “नूतन”पुस्तक- मिट्टी मेरे गाँव की (बुन्देली काव्य संग्रह)प्रकाशक- श्वेतांशु प्रकाशन, नई दिल्लीसमीक्षक- गणतंत्र जैन ‘ओजस्वी’मूल्य- ₹200 रपृष्ठ – 104 पेज ‘सौ दण्डी एक बुन्देलखण्डी’ अथवा सुभद्राकुमारी चौहान की कालजयी रचना “बुन्देले […]

पुस्तक समीक्षा : एहसास

July 20, 2019 0

लेखिका:- निक्की शर्मा”रश्मि” प्रकाशक:-भारत पब्लिकेशन ,मुम्बई संस्करण:-प्रथम,1मई 2019 पृष्ठ:-56 मूल्य:-75/- समीक्षक:- राजेश कुमार शर्मा”पुरोहित” कवि, साहित्यकार देश की ख्यातिनाम कथाकार निक्की शर्मा रश्मि की ये प्रथम कृति “एहसास” है। प्रस्तुत कहानी संग्रह में कहानियां सामाजिक […]

1 2 3