जिजीविषा से भरपूर रही, रमेश सिंह मटियानी से ‘शैलेश मटियानी’ तक की यात्रा

April 25, 2024 0

कल (२४ अप्रैल) जिनकी पुण्यतिथि थी। मुख्य अतिथि के रूप मे हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग के नवनिर्वाचित प्रधानमन्त्री कुन्तक मिश्र ने बताया– अल्मोड़ा जनपद के बाड़ेछिना गाँव मे १४ अक्तूबर, १९३१ को जन्म लेनेवाले शैलेश […]

इस वर्ष भी सर्वाधिक कार्यक्रम करानेवाली संस्था ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज’ रही

December 31, 2023 0

इस वर्ष सर्वाधिक बौद्धिक, शैक्षिक, साहित्यिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम करानेवाली संस्था अलोपीबाग़, प्रयागराज की ‘सर्जनपीठ’, रही, जिसके तत्त्वावधान मे वर्ष २०२३ मे अब तक कुल मिलाकर ७७ अन्तरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय तथा जनपदस्तरीय समारोह आयोजन किये गये […]

‘मुक्त मीडिया (सोशल मीडिया) मे हिन्दी : कितनी हिन्दी?’ विषयक बौद्धिक समारोह १७ सितम्बर को

September 15, 2023 0

‘सर्जनपीठ’ और ‘भारती भवन पुस्तकालय’ के संयुक्त तत्त्वावधान मे हिन्दी-पक्ष (हिन्दी-पखवाड़ा) के अवसर पर मुक्त मीडिया (सोसल मीडिया) मे हिन्दी : कितनी हिन्दी?’ विषय पर १७ सितम्बर को मध्याह्न १२ बजे से ‘भारती भवन पुस्तकालय […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से आयोजित स्वतन्त्रता-विषयक अन्तरराष्ट्रीय परिसंवाद

August 15, 2023 0

मूल्य समझो, स्वतन्त्रता की!● आयोजक– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ● डॉ० विवेकमणि त्रिपाठी(एसोशिएट प्रोफ़ेसर– हिन्दी, क्वान्ग्तोंग विदेशी भाषा विश्वविद्यालय, चीन) “स्वतन्त्रता मे व्यक्तित्व-विकास की अपार सम्भावनाएँ हैं”● डॉ० नीलम जैन(विज़िटिंग प्रोफ़ेसर– स्टेट युनिवर्सिटी ऑव़ अमेरिका) […]

‘सर्जनपीठ’ का राष्ट्रीय ‘राग-रंग’ सम्पन्न

March 23, 2023 0

गले लगा करके सभी, महको जैसे फूल २२ मार्च की तिथि प्रयागराज के लिए रंगमयी रही, जो इन्द्रधनुषी रंग से उत्तरप्रदेश से लेकर पूर्वोत्तर-राज्यों तक को रँगती हुई प्रतीत हो रही थी। होली लौट चुकी […]

‘सर्जनपीठ’ का राष्ट्रीय आयोजन ‘राग-रंग’ २२ मार्च को

March 19, 2023 0

‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान मे आगामी २२ मार्च को एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय कार्यक्रम ‘राग-रंग’ का आयोजन ‘सारस्वत सदन’, प्रयागराज से किया जायेगा, जिसमे देशभर से ११ कवि-कवयित्रियों का चयन किया गया है। संस्था के निदेशक और […]

‘शब्द-शब्द संधान’ का आयोजन २१ दिसम्बर को

December 18, 2022 0

‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान मे हिन्दी-साहित्य के युगप्रवर्तक (द्विवेदी-युग) आचार्य महावीरप्रसाद द्विवेदी की पुण्यतिथि के अवसर पर ‘शब्द-शब्द संधान’ के अन्तर्गत ‘मौखिक और लिखित भाषाओं मे विराम और विरामेतर-चिह्नो की उपयोगिता’ विषय पर एक व्याकरणिक परिसंवाद […]

रामचन्द्र द्विवेदी ‘प्रदीप’ की पुण्यतिथि (११ दिसम्बर) पर ‘सर्जनपीठ’ का विशेष आयोजन

December 11, 2022 0

“ऐ मेरे वतन के लोगो! ज़रा आँख मे भर लो पानी”– प्रदीप हमारे इलाहाबाद मे, जो वर्तमान मे प्रयागराज के नाम से जाना जाता है, एक-से-बढ़कर- एक प्रतिभाएँ रही हैं, जिनका लोहा विश्व मानता आ […]

‘बालरस-रंग-बड़ों के संग’ का आयोजन १३ नवम्बर को

November 11, 2022 0

‘सर्जनपीठ’ की ओर से ‘बालरस-रंग-बड़ों के संग’ के अन्तर्गत ‘बाल-दिवस’ की पूर्व-सन्ध्या मे ‘बाल-साहित्य : ह्रास की ओर’ विषय पर ‘सारस्वत सभागार’, लूकरगंज, प्रयागराज मे १३ नवम्बर को अपराह्ण ४ बजे से एक बौद्धिक परिसंवाद […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से ‘राम की शक्तिपूजा और निराला’ विषयक एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का हुआ आयोजन

October 15, 2022 0

“निराला की ‘राम की शक्तिपूजा’ एक मौलिक अवधारणा है” ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से सूर्यकान्त त्रिपाठी ‘निराला’ की पुण्यतिथि के अवसर पर १५ अक्तूबर को ‘राम की शक्तिपूजा और निराला’ विषयक एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक […]

तलब जौनपुरी की पत्नी का शरीरान्त हुआ!

September 19, 2022 0

देश के प्रख्यात शाइर नगर के श्री राम मिश्र ‘तलब जौनपुरी’ की पत्नी गुलाब देवी मिश्र की आज (१९ सितम्बर) पूर्वाह्न ९.३० बजे सिविल लाइन्स-स्थित एक चिकित्सालय मे उपचार के दौरान हृदयगति रुकने के कारण […]

‘सर्जनपीठ’ का ‘हम हिन्दी हैं’ का आयोजन १५ सितम्बर को

September 12, 2022 0

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से ‘हम हिन्दी हैं’ के अन्तर्गत आगामी १५ सितम्बर को ‘सारस्वत भवन’, लूकरगंज, प्रयागराज मे ‘शुद्धता के साथ हिन्दीभाषा का उत्थान कैसे हो’ विषय पर अपराह्ण ५ बजे से एक परिचर्चा […]

एक शोधार्थी, जिसने भारतीय विश्वविद्यालयों का ‘शोधनियम’ बदलवा दिया!

August 17, 2022 0

भाषाकार फादर कामिल बुल्के की स्मृति में ‘सर्जनपीठ’ का राष्ट्रीय आयोजन ‘मुक्तिदाता’, ‘नया विधान’, नील पक्षी’, ‘अँगरेज़ी-हिन्दीकोश’ आदिक कृतियों के प्रणेता फ़ादर कामिल बुल्के की आज (१७ अगस्त) निधनतिथि है और उनकी पुण्यस्मृति में ‘सर्जनपीठ’, […]

‘सर्जनपीठ’ का ‘विश्व हिन्दी-भाषातिथि-महोत्सव’ सम्पन्न

January 10, 2022 0

हिन्दी का विकास शुद्धतापूर्वक हो, समय की माँग १० जनवरी को ‘विश्व हिन्दीभाषा-दिवस’ के उपलक्ष्य मे ‘सर्जनपीठ’ की ओर से सारस्वत सभागार, लूकरगंज, प्रयागराज मे १० जनवरी को अपराह्न १ बजे से ५ बजे तक […]

‘सर्जनपीठ’ का आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद ११ दिसम्बर को

December 10, 2021 0

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में तमिल के प्रख्यात कवि और स्वतन्त्रता-सेनानी सुब्रह्मण्य भारती की जन्मतिथि के अवसर पर ११ दिसम्बर को अपराह्न ३ बजे से अलोपीबाग़, प्रयागराज से ‘सुब्रह्मण्य भारती का स्वातन्त्र्य संग्राम में योगदान’-विषयक […]

हिन्दी को राष्ट्रभाषा का संवैधानिक अधिकार कब मिलेगा?

November 26, 2021 0

संविधान-दिवस पर ‘सर्जनपीठ’ का आयोजन संविधान-दिवस के अवसर पर ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से ‘हिन्दी को राष्ट्रभाषा का संवैधानिक अधिकार कब मिलेगा?’ विषयक एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया, जिसमें देश के […]

भाषाकार फादर कामिल बुल्के की स्मृति में ‘सर्जनपीठ’ का राष्ट्रीय आयोजन

August 17, 2021 0

● फ़ादर कामिल बुल्के, जिनका सम्पूर्ण जीवन ‘हिन्दीमय’ बना रहा! ‘मुक्तिदाता’, ‘नया विधान’, नील पक्षी’, ‘अँगरेज़ी-हिन्दीकोश’ आदिक कृतियों के प्रणेता फ़ादर कामिल बुल्के की आज (१७ अगस्त) निधनतिथि है और उनकी पुण्यस्मृति में ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज […]

अलग-अलग चश्मे से परीक्षाओं को देख रही सरकार

June 8, 2021 0

‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में ८ जून को आयोजित राष्ट्रीय आन्तर्जालिक बौद्धिक परिसंवाद में देश के अनेक प्रबुद्धजन ने ‘कोरोना के भय की आड़ में परीक्षा-संदर्भ में केन्द्र और राज्य-सरकारों की दोहरी नीति’ विषय पर अपने […]

‘सर्जनपीठ’ का बौद्धिक परिसंवाद ८ जून को

June 7, 2021 0

अभी हाल ही में देश के राज्यों ने हाईस्कूल इण्टरमीडिएट और केन्द्र ने बारहवीं की सी०बी०एस०ई० आदिक की परीक्षाएँ कोरोना का भय दिखाते हुए निरस्त कर जिस विवादास्पद निर्णय की घोषणा की थी, जबकि ‘नीट’ […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से इलाहाबाद की पत्रकारिता : कल, आज और कल’ विषयक बौद्धिक परिसंवाद

May 30, 2021 0

‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में ‘हिन्दीपत्रकारिता-दिवस’ के अवसर पर ३० मई को ‘इलाहाबाद की पत्रकारिता : कल, आज और कल’ विषय पर एक आन्तर्जालिक बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया। संवाद-समारोह की अध्यक्षता करते हुए, हिन्दी […]

पं० सुमित्रानन्दन पन्त की जन्मतिथि के अवसर पर ‘सर्जनपीठ’ का आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद

May 20, 2021 0

● पन्त के काव्य में मानवीय मूल्यों का रेखांकन ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में आज (२० मई) सौन्दर्यशिल्पी पं० सुमित्रानन्दन पन्त की जन्मतिथि के अवसर पर एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया, […]

‘सर्जनपीठ’ का ‘शब्दरथ-कुम्भ’ सम्पन्न

January 10, 2021 0

भाषानुशासन के प्रति स्वयं की सजगता आवश्यक आज (१०) ‘विश्व हिन्दी-दिवस’ और ‘प्रथम विश्व हिन्दी-सम्मेलन’ की स्मृति में ‘सारस्वत भवन’, लूकरगंज, प्रयागराज में एक प्रभावकारी और व्यावहारिक भाषिक और व्याकरणिक विमर्श किया गया, जिसमें बड़ी […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का ‘शब्दरथ-कुम्भ’ १० जनवरी को

January 7, 2021 0

विश्रुत बौद्धिक-शैक्षिक मंच ‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में ‘विश्व हिन्दी-दिवस’ और ‘प्रथम विश्व हिन्दी-सम्मेलन’ की स्मृति में आगामी १० जनवरी को अपराह्न दो बजे से ‘शब्दरथ-कुम्भ’ के अन्तर्गत भाषा और व्याकरण-विषयक एक मुखर और व्यावहारिक बौद्धिक […]

इस वर्ष सर्वाधिक कार्यक्रम करानेवाली संस्था ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज रही

December 28, 2020 0

इस वर्ष सर्वाधिक बौद्धिक, शैक्षिक, साहित्यिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम करानेवाली संस्था नगर की ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज रही, जिसके तत्त्वावधान में ‘कोरोना-संक्रमणकाल’ में भी आवश्यक अनुशासन का पालन करते हुए, अन्तरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय तथा ज़िलास्तरीय समारोह आयोजन होते […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद

December 21, 2020 0

आचार्य पं० महावीर प्रसाद द्विवेदी हिन्दी-आलोचना के प्रथम प्रणेता थे । बौद्धिक, शैक्षिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक मंच ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में द्विवेदी-युग के प्रवर्तक आचार्य पं० महावीर प्रसाद द्विवेदी की निधनतिथि २१ दिसम्बर के अवसर […]

मंगलेश डबराल मानवीय संवेदना के पारखी थे

December 10, 2020 0

‘सर्जनपीठ’ का श्रद्धांजलि-समारोह शैक्षिक, बौद्धिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक तथा सामाजिक संस्था ‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में १० दिसम्बर को ‘स्मृति-शेष मंगलेश डबराल’-विषयक एक श्रद्धांजलि-समारोह का आयोजन प्रयागराज में किया गया। मंगलेश डबराल एक कवि ही नहीं थे, […]

‘सर्जनपीठ’ और ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ के संयुक्त तत्त्वावधान में आयोजित बौद्धिक परिसंवाद

September 16, 2020 0

जीवन जीने की कला सिखाती हिन्दी ‘भाषारस-गागरी’ समारोह के अन्तर्गत पिछले तीन दिनों से ‘सारस्वत सभागार’, लूकरगंज, प्रयागराज में आयोजित हो रहे विविध कार्यक्रमों का समापन १६ सितम्बर के बौद्धिक परिसंवाद-कार्यक्रम ‘पठन-पाठन में हिन्दी-भाषा की […]

‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ और ‘सर्जनपीठ’ का ‘भाषारस-गागरी’ राष्ट्रीय महोत्सव सम्पन्न

September 15, 2020 0

भाषारस ले गागरी चली पिया के देश ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ और ‘सर्जनपीठ’ की ओर से १५ सितम्बर को ‘भाषारस-गागरी राष्ट्रीय महोत्सव का आयोजन ‘सारस्वत सभागार’, लूकरगंज, प्रयागराज में कवि-कवयित्री सम्मेलन के रूप में किया गया। उससे […]

‘सर्जनपीठ’ का राष्ट्रीय आयोजन

August 28, 2020 0

हम तो इंसान को दुनिया का ख़ुदा कहते हैं– फ़िराक़ गोरखपुरी वैचारिक-बौद्धिक मंच ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज ने शाइरे आज़म फ़िराक़ गोरखपुरी की जन्मतिथि के अवसर पर एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक आयोजन किया। उर्दू-विभाग, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का सक्रिय आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद-कार्यक्रम सम्पन्न

August 7, 2020 0

★ कोरोना-काल में फ़ीस लेने का कोई औचित्य नहीं इन दिनों कोरोना से सम्पूर्ण जनजीवन दुष्प्रभावित हो चुका है। शिक्षणसंस्थानों में अध्ययन- अध्यापन स्थगित है। माता-पिता और अभिभावक कोरोना की मार से असहाय-से दिख रहे […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से आयोजित ‘श्रद्धांजलि-सभा

July 20, 2020 0

स्मृति-वातायनआज ही की तिथि में–— नीरज के गीतों में प्राणों का स्पन्दन बोलता है : श्याम विद्यार्थीगोपाल दास नीरज ने कठोर और गहन साधना की थी, जिसके कारण उन्हें गीत-क्षेत्र में ऐसी सिद्धि मिली, जिसके […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से आयोजित बौद्धिक परिसंवाद

July 20, 2020 0

● पं० बालकृष्ण भट्ट की साहित्यिक-सामाजिक चेतना देखते ही बनती थी प्रख्यात निबन्धकार-पत्रकार- संस्कृतिधर्मी पण्डित बालकृष्ण भट्ट की पुण्यतिथि पर आज (२० जुलाई) ‘सर्जनपीठ’ की ओर से ‘पं० बालकृष्ण भट्ट का साहित्यिक और पत्रकारीय जीवन’ […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का ‘ऑन-लाइन राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद समारोह’ सम्पन्न

July 8, 2020 0

● उत्तरप्रदेश में अपराध की गोद में खेलती-कूदती राजनीति इधर, कुछ वर्षों से उत्तरप्रदेश में गुण्डा-तत्त्वों को राजनीतिक और पुलिस-संरक्षण मिलने के कारण जनसमान्य का जीना दूभर हो गया है। ऐसे में, आपराधिक तत्त्वों से […]

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का ‘ऑन-लाइन राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद समारोह’ ८ जुलाई को

July 7, 2020 0

इधर, कुछ वर्षों से उत्तरप्रदेश में गुण्डा-तत्त्वों का निरंकुश साम्राज्य स्थापित हो चुका है। यही कारण है कि आये-दिन दोषी और निर्दोष लोग की नृशंस हत्या की जा रही है और पुलिस किंकर्त्तव्यविमूढ़ बनी हुई […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से आयोजित ‘ह्वाट्सएप राष्ट्रीय पत्रकारीय आयोजन सम्पन्न

June 25, 2020 0

● जान जोख़िम में डालकर हमारे लिए ख़बरें जुटाते आ रहे योद्धा कोरोना के आरम्भकाल से अब तक हमारे देश के मीडियाकर्मी कोरोना रोग-संक्रमितों तक पहुँच रहे हैं; सम्बद्ध चिकित्सालयों, अन्य उपचार तथा परीक्षणस्थलों, चीर-फाड़-केन्द्रों […]

‘सर्जनपीठ’ का ‘ह्वाट्सएप’ राष्ट्रीय आयोजन

May 20, 2020 0

● पन्त जी का साहित्य ग्राम्यजीवन के शोषण का यथार्थ चित्रण करता है– प्रो० ईश्वरशरण विश्वकर्मा बौद्धिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, साहित्यिक तथा सामाजिक मंच ‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में २० मई को प्रयागराज में पं० सुमित्रानन्दन पन्त […]

‘सर्जनपीठ’ का ऑन-लाइन सारस्वत समारोह सम्पन्न

May 9, 2020 0

● आचार्य जी के कथनों-विचारों के पीछे ‘व्यक्तित्व’ की गरिमा थी। प्राचीनता की उपेक्षा न करते हुए भी नवीनता को समादृत करने में सिद्धहस्त आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी जी ने हिन्दीपद्य और गद्य की भाषा […]

सर्जनपीठ’ की ओर से ‘विश्व हिन्दी-दिवस’ का आयोजन १० जनवरी को

January 8, 2020 0

नगर की बौद्धिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक तथा साहित्यिक संस्था ‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में हिन्दी साहित्य सम्मेलन के प्रधानमन्त्री विभूति मिश्र की अध्यक्षता में ‘शिखर से शून्य तक’ स्तम्भ के अन्तर्गत ‘हिन्दी-भाषा का वैश्विक स्वरूप’ विषयक ‘भाषा-मन्थन’ […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से अटल बिहारी वाजपेयी को सारस्वत श्रद्धांजलि

August 16, 2018 0

“अटल जी मनुष्यता के प्रति अतीव संवेदनशील थे” इलाहाबाद की बौद्धिक, शैक्षिक, साहित्यिक तथा सांस्कृतिक संस्था ‘सर्जनपीठ’ के तत्त्वावधान में इलाहाबाद में एक मुक्त सारस्वत श्रद्धांजलि-कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें ‘राजनीति’ से पृथक् कर, […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से आयोजित ‘श्रद्धांजलि-सभा नीरज के गीतों में प्राणों का स्पन्दन बोलता है : श्याम विद्यार्थी

July 20, 2018 0

गोपाल दास नीरज ने कठोर और गहन साधना की थी, जिसके कारण उन्हें गीत-क्षेत्र में ऐसी सिद्धि मिली, जिसके आस-पास भी उनके समय का कोई कवि नहीं ठहरता। इसका प्रमुख कारण यह है कि शिल्प […]

‘सर्जनपीठ’, इलाहाबाद का सारस्वत आयोजन

May 10, 2018 0

पण्डित महावीर प्रसाद द्विवेदी भाषा-प्रबन्धन के कुशल हस्ताक्षर थे। आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी कवि, आलोचक, निबन्धकार, समर्थ सम्पादक तथा निजी सूझ-बूझ के सर्जक थे। साहित्य में विविधता का पुट लिये उन्होंने साहित्यिक, सामाजिक, राजनीतिक, ऐतिहासिक, […]

सर्जनपीठ का आयोजन : ‘बच्चों का, बच्चों के लिए, बच्चों के द्वारा’

February 4, 2018 0

‘बालसंसार’ शब्द सामने आते ही इलाहाबाद नगर की उस गरिमा की प्रतिष्ठा होती है, जिसे समाज के शिक्षित जन में से अधिकतर इस विलक्षण सत्य से अनभिज्ञ हैं कि सम्पूर्ण विश्व में इलाहाबाद एकमात्र ऐसा […]