संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

ट्रांसजेंडर्स हेतु “ट्रान्स स्वास्थ्य क्लीनिक” का हुआ उद्घाटन

September 24, 2021 0

उत्तर प्रदेश राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी की प्रोजेक्ट निदेशक श्रीमती अनीता सी मेश्राम ने आज यहां गोमती नगर स्थित होटल रेनेशा में ट्रांसजेन्डर समुदाय की स्वास्थ्य समस्याओं सम्बन्धी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए जनपद […]

हिन्दी के बल पर अपनी पहचान बनानेवालों का ‘हिन्दी’ के साथ विश्वासघात!..?

September 23, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय धिक्कार है, देश के सभी समाचार-चैनलों की स्वामी-स्वामिनियों और उनके महिला-पुरुष कर्मचारियों (निदेशक, कार्यकारी निदेशक, सम्पादक, समाचार-सम्पादक, संवाददाता, सूत्रधार आदिक) को, जो ‘हिन्दी’ की दी हुई रोटी तो तोड़ रहे […]

हिन्दी लेखकों का अँगरेज़ी प्रेम

September 18, 2021 0

रंगनाथ सिंह जी (वरिष्ठ पत्रकार) की फ़ेसबुक-वॉल से साभार : एक बार अपने एक प्रिय टीचर से मैंने कह दिया था कि ‘सर इस देश में इंग्लिश भाषा नहीं क्लास है तो वो नाराज हो […]

हिन्दू, हिन्दुस्तान, भारत व उसकी भारतीयता एवं राष्ट्रवाद को सैद्धांतिक रूप से परिभाषित करता यह आर्टिकल अवश्य पढ़िए…

September 13, 2021 0

यदि आपको हिंदू हिंदुस्तान हिन्दूधर्म से वास्तव में इतना अधिक प्रेम है तो प्रत्येक हिंदुस्तानी के लिए आप 25 वर्षीय निःशुल्क, अनिवार्य, अबाध्य विद्यार्थीजीवन का ब्रह्मचर्य आश्रम और उसके बाद कृषिभूमि, वाणिज्यिकपूंजी, राजकीयवेतन, नेतृत्वभत्ता में […]

आचार्यत्व का मान-मर्दन करते पढ़े-कढ़े लोग!..?

September 5, 2021 0

★आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय एक समय था, जब अध्यापक-अध्यापिका की सम्पूर्ण समाज में सर्वाधिक मान-प्रतिष्ठा हुआ करती थी, तब यह उदात्त शब्दावली शोभा देती थी, “आचार्य देवो भव।” (‘भव:’ अशुद्ध है।)। एक समय आज का […]

नपुंसक सिद्ध होती महाशक्ति!

August 22, 2021 0

★आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय विश्व की दो महाशक्ति (‘महाशक्तियाँ’ का प्रयोग अशुद्ध है।) :– संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस, ‘नपुंसक’ सिद्ध हो चुकी है। यदि इन दोनों देशों में पौरुष रहता तो तालिबानी ‘अफग़ानिस्तान’ में […]

पी० जी० टी० हिन्दी-परीक्षा के नाम पर परीक्षार्थियों के साथ क्रूर मज़ाक़!..?

August 19, 2021 0

★आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय(भाषाविज्ञानी और समीक्षक), प्रयागराज। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा प्रवक्ता की परीक्षा पिछले १७ अगस्त को करायी गयी थी, जिसमें हिन्दी-विषय के प्रश्नपत्र के ९० प्रतिशत प्रश्न और उनके […]

लोक-विरुद्ध होता सत्ता-प्रतिष्ठान

August 18, 2021 0

———————–ज्वलन्त विषय—————— — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इतिहास से सीख न लेने पर महान् शक्ति भी पराजित होती रही है। एक शक्तिसम्पन्न व्यक्ति जब ‘बलप्रयोग’ करते हुए, अतिरेकता की ओर बढ़ता है तब उसकी बुद्धि […]

अफग़ानिस्तान हारा या फिर सत्ता सौंप दी?

August 15, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय १५ अगस्त, २०२१ ई० की तिथि भारत के लिए आज़ादी की रही है, जबकि उसके विपरीत, अफग़ानिस्तान के लिए ग़ुलामी का रहा है। १५ अगस्त को अफग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ […]

स्वाधीनता-दिवस (१५ अगस्त) की पूर्व-सन्ध्या पर ‘ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय का राष्ट्र के नाम सन्देश’

August 14, 2021 0

मातृभूमि की अर्चना, आराधना, वन्दना का सम्मान तथा सरकारों की लोकघातक नीतियों की भर्त्सना राष्ट्रध्वज का गौरवपूर्ण अभिवादन, राष्ट्रगान तथा राष्ट्रगीत का गायन हमारे अन्तस् की राष्ट्रीयता को रेखांकित करता है। जो राष्ट्र आपका पोषण […]

अपसंस्कृति है कट्टरवादी-वहाबी आतंकवाद

August 14, 2021 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी “राघव”- जब अकर्मण्यता को छिपाकर जीवन जीने के लिए आवश्यक संसाधनों को सच्चाई और पुरुषार्थ से जुटाने की बजाय हिंसा से छीन लिया जाता हैए चोरी कही जाती है । इससे चोर […]

राष्ट्रवाद को खा रहा, ‘अतिवादी आचरण’!

August 14, 2021 0

समयसत्य चिन्तन ०—— ★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय•••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••एक और ‘भारत’ के साथ बँटवारे का बीभत्स खेल शुरू हो गया है। पहली ओर, हिन्दू है और दूसरी ओर, मुसलमान। भारतवासियों का बौद्धिक-मानसिक स्तरवर्द्धन करने के स्थान […]

सीडीसी की रिपोर्ट और कोरोना वैक्सीन का सच

August 2, 2021 0

सन्त समीर (वरिष्ठ पत्रकार व प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति के जानकार, दिल्ली) आख़िरकार टीके के पक्ष में किए जाने वाले सबसे बड़े दावे का भी दम निकल गया। दम भी उसी ने निकाला, जो टीके का […]

प्रेमचन्द की कथा में सामाजिक यथार्थ : मत और सम्मत

August 1, 2021 0

प्रेमचंद के उपन्यासों में सामाजिक यथार्थ आज भी जीवित है ★डॉ० प्रदीप चित्रांशी (साहित्यकार, प्रयागराज) मुंशी प्रेमचंद ने बहुत सी कहानियाँ,उपन्यास लिखे जो आज भी प्रासंगिक हैं क्योंकि उन्होंने वास्तविक परिस्थितियों का वर्णन जितनी वास्तविकता […]

हिन्दी को ‘राजभाषा’ और देवनागरी को ‘राजलिपि’ घोषित करानेवाले राजर्षि टण्डन जी

August 1, 2021 0

आज (१ अगस्त) भारतरत्न पुरुषोत्तमदास टण्डन जी की जन्मतिथि है। — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय राजर्षि पुरुषोत्तमदास टण्डन जी एक कुशल वक्ता, अभिभाषक, विधिज्ञ, स्वाधीनता-संग्रामसेनानी, साहित्यकार, पत्रकार, सन्त राजनेता तथा विदेह-जैसे वीतरागी महामानव थे। वे […]

प्रेमचन्द के उपन्यासों में सामाजिक यथार्थ : एक चिन्तन

July 31, 2021 0

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में आज (३१ जुलाई) एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया। प्रेमचन्द की १४१ वीं जन्मतिथि के अवसर पर आयोजित ‘प्रेमचन्द के उपन्यासों में सामाजिक यथार्थ’ विषय पर देश […]

पेगासस जासूसी-प्रकरण : मोदी-सरकार की सेंधमारी

July 22, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इस समय देश में कोरोना, गाय, गोबर, मन्दिर-मस्जिद, मोदी-सरकार की नाकामी, महँगाई आदिक विषय नेपथ्य में जा चुके हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि ‘न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार’ पर […]

बढ़ती जनसंख्या और विनाश की ओर धकेला जाता पर्यावरण

July 18, 2021 0

प्रकृति ने इंसानों को क्या दिया? एक वाक्य में इसका उत्तर दिया जाए तो “प्रकृति ने हमें जीवन दिया।” लेकिन बड़ा सवाल यह है कि इंसानों ने प्रकृति को क्या दिया? विकास और आधुनिकता की […]

‘न्याय’ और ‘न्यायालय’ के नाम पर देश के साथ आँखमिचौली खेल रहे हैं, ‘न्यायाधीश’!

July 15, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने डी० जे० के प्रयोग को प्रतिबन्धित कर जनसामान्य को ध्वनि-प्रदूषण से बचाने का प्रयास किया था। खेद है! देश के शीर्षस्थ न्यायालय उच्चतम न्यायालय की ओर […]

1 2 3 28