मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

आइए! सत्य-संधान करें

June 13, 2022 0

— आचार्य पंडित पृथ्वीनाथ पाण्डेय प्राय: सत्य स्वयं में नितान्त कटु होता है। इसका आयाम बृहद् है— कहीं मृदु अनुभव होता है और कहीं कठोर। यहीं पर सत्य की प्रियता-अप्रियता की, यापित काल-खण्डों में गहन […]

मिशन से प्रोफेशन होते हुए ऑपरेशन तक पहुँचा पत्रकारिता का सफ़र

May 30, 2022 0

किसी भी विषय पर हर व्यक्ति का अपना-अपना नजरिया होता है ऐसे में मेरा भी पत्रकारिता को लेकर जो भी थोड़ा बहुत अनुभव है उसके अनुसार अपनी बात कह रहा हूं। आज हिंदी पत्रकारिता दिवस […]

मै पत्रकार नही हूँ !

May 30, 2022 0

प्रभात सिंह (मान्यता प्राप्त पत्रकार, लखनऊ ) मैं ये स्वीकार करता हूँ कि मैं पत्रकार नही हूँ। मैं अपना दो- पहिया वाहन चलाते वक्त हेलमेट पहनता हूँ, गाड़ी के कागज़ पूरे रखता हूँ, मैं किसी […]

अमर बलिदानी सुखदेव : भारतीय स्वतंत्रता-संग्राम का एक अमिट व अतुलनीय पन्ना

May 15, 2022 0

संकलित- आज हुतात्मा सुखदेव का जन्म दिन है । 15 मई 1907 को रामलाल थापर व श्रीमती रल्ली देवी के घर पंजाब के शहर लायलपुर में जन्मे सुखदेव थापर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का एक अमिट […]

सम्प्रभुता-रक्षा हेतु सतत संघर्षरत अपराजेय-योद्धा महाराणा प्रताप को स्मरणाञ्जलि

May 9, 2022 0

डॉ॰ निर्मल पाण्डेय (इतिहासकार) : ‘आपने कभी अपने घोड़े पर मुग़लिया सल्तनत का शाही दाग़ नहीं लगने दिया, आपने अपनी पगड़ी कभी नहीं झुकाई ना ही आपने अपने घोड़े पर शाही मोहर नहीं लगने दी। […]

वाह रे भारत की धर्मनिरपेक्षता !

May 4, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार “राघव”- यदि भारत में गैर मुसलमान से कुरआन को ईश्वरीय हिदायतनामा मानने की उम्मीद की जाती है तो यह भी सोचना चाहिए कि सच्चा हिन्दू मनुस्मृति और पुराणों को कैसे नकार सकता है […]

कविता : नशा

May 3, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’  (यह रचना राघवेन्द्र की पुस्तक “विकृतियाँ समाज की” से ली गयी है)- सड़क के किनारे पड़ी थी एक लाश । उसके पास कुछ लोग बैठे थे बदहवाश । उनमे चार छोटे […]

आरक्षण का विरोध क्यों नहीं?

May 1, 2022 0

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय (प्रख्यात लेखक/आलोचक)- आत्मीय अमित्र-मित्रवृन्द!‘आरक्षण’ देश को अयोग्यों की पंक्ति मे ला खड़ा करेगा और एक दिन ऐसा भी आयेगा, जब देश पर ‘नितान्त’ अक्षम, असमर्थ तथा संस्कारविहीन लोग शासन-प्रशासन करने लगेंगे; […]

धर्म और दर्शन : इस्लाम परिवर्तनो का विरोध करता है

May 1, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’— सारी दुनिया में आतंक का पर्याय माने जाने वाले गजनवी, गौरी, बाबर, ओसामा बिन लादेन और गद्दाफी सरीखे लोगों को भी मुस्लिम आतंकवादी और मानवता का हत्यारा नहीं बल्कि अपना आदर्श […]

गाँवों का जीवन झुलस रहा है

April 30, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’- वास्तव में भारत गाँवों में ही बसता है। शान्ति, सहिष्णुता, अहिंसा, नैतिक मूल्य और संस्कृति का दर्शन गाँवों के अतिरिक्त और कहाँ होगा? अफ़सोस गाँव बदल गए हैं। अब गाँव में […]

देह के उतार-चढ़ाव के प्रदर्शन की कोई आवश्यकता नहीं

April 29, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’- युगों-युगों से लाज और स्त्री का चोली-दामन सा साथ रहा है, लज्जा तो स्त्री का आभूषण है । भारतीय स्त्री का प्रतिबिम्ब एक स्वर्ण शरीर की मलिका, चंचल, मृगनयनी के समान […]

क्या नैतिक होना बुरी बात है?

April 27, 2022 0

समाज का उत्थान और उसके संवर्धन की पहली कसौटी ही नैतिकता है। अगर समाज नैतिकता-शून्य हो जाये तो समाज लोग के समूह से तुरंत भेड़ की भीड़ से लेकर जंगली जानवरों के झुण्ड समान हो […]

समाज में जनसंचार का प्रभाव

April 26, 2022 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’– विकास की दृष्टि से जनसंचार का क्या महत्व है यह समझने के लिए जनसंचार के विविध पहलुओं को जानना अत्यावश्यक है । समाज में जनसंचार के माध्यम किस तरह प्रभाव डालते […]

पत्रकारिता का स्तर निम्न ही नहीं, भयावह और शर्मनाक भी है

April 25, 2022 0

विजय कुमार– कई साल पहले एक फिल्म आई थी ‘पेज थ्री’! पत्रकारिता जगत की रंगीनियों, भ्रष्ट नेताओं से हाई लेवल के पत्रकारों की सांठ-गांठ और पत्रकारिता के क्षेत्र मे शीर्ष स्तर पर फैले भ्रष्टाचार को […]

आइए! वैश्विक परिदृश्य को समझते हैं

April 22, 2022 0

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ● रूस युक्रेन के पीछे हाथ धोकर पीछे पड़ चुका है।● चीन ताइवान के विरुद्ध ताल ठोंक रहा है।● ईरान संयुक्त राज्य अमेरिका को धमका चुका है।● तालिबान पाकिस्तान को धमकी […]

हिन्दुत्व को जाने, दुनिया मे केवल हिन्दू ऐसा कहता है कि ईश्वर एक है

April 21, 2022 0

आलोक सिंह (हरदोई)- मित्रों, मैं समझता हूँ,कि मेरी इस बात से कई लोग सहमत नहीं हो सकते ,किन्तु मुझे यह कहने में जरा भी संकोच नहीं कि भारत में रहने वाला प्रत्येक नागरिक सर्वप्रथम हिन्दू […]

उत्तरप्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् के हाईस्कूल के संस्कृत-प्रश्नपत्र मे अशुद्धियाँ-ही-अशुद्धियाँ– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

April 17, 2022 0

हाल मे सम्पन्न उत्तरप्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् के हाईस्कूल के संस्कृत-विषय के 818 (AS) प्रश्नपत्र मे किये गये प्रश्नात्मक वाक्यविन्यास और उत्तर-विकल्प, विरामचिह्न-प्रयोग आदिक को लेकर भाषाविज्ञानी और समीक्षक आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ने घोर […]

राजनीत के दाँव पर खाकी

April 12, 2022 0

आदित्य त्रिपाठी – विगत कुछ वर्षों से हमारे देश में सहिष्णुता और असहिष्णुता पर बड़े जोर – शोर से बहस चल रही है । आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े प्रदेश उत्तर प्रदेश […]

धर्मान्ध बनने से पहले ‘धर्म’ को जानो

April 1, 2022 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय धर्म क्या है? हिन्दू-मुसलमान, सिक्ख (‘सिख’ अशुद्ध है।), जैन, पारसी आदिक अथवा कुछ और? धर्म की अवधारणा क्या है– ‘जय श्री राम? जय सियाराम? अल्लाहो अकबर? दलित हनुमान् या फिर […]

1 2 3 28