ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

पत्रकारिता और लेखन मेरा जीवन है

May 3, 2021 0

● आज (३ मई) ‘विश्व प्रेस स्वाधीनता-दिवस’ है। ★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ‘पत्रकारिता के क्षेत्र में एक साप्ताहिक समाचारपत्र से लेकर दैनिक समाचारपत्रों में कार्य करने के अनुभव ने मेरे जीवन को वैश्विक रूप […]

समय के सम्मुख हम कितने ‘बौने’ हैं!

May 2, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय निवर्तमान न्यायाधीश, जो कभी स्वयं न्यायाधीश के आसन पर बैठकर ‘न्यायगाथा’ लिखा करते थे, उनके साथ समय ने एक ऐसा ‘क्रूर छल’ किया है, जो हमारे मन-प्राण को भीतर तक […]

देश के साहित्यकारो! आग उगलने का समय आ चुका है

April 18, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आप गीत, ग़ज़ल, कविता, दोहा, विचार आदिक में आदर्शवाद की बात बिलकुल न करें; तीज-त्योहार के वर्णन करने में समय का अपव्यय न करें और न ही अपने भीतर के […]

हीरोज़ इग्नोटम नाइट्स में मिलिए सुपर टैलेण्ट निष्ठा श्रीवास्तव से

April 10, 2021 0

दिन-रात बन जायेगा ये समय ना वापस आएगा ।जो यादों में रह जायेगा वो अपना सा बन जायेगा ।लेकिन हर रात का वो सपना वापस ना आएगा ।लेकिन हीरोज़ इग्नोटम नाइट्स में जो आएगा ।वो […]

सौगंद अकबरियन : सीमा पार का एक कामयाब चेहरा

April 2, 2021 0

अंजली तिवारी कहते है कामयाबी की कोई सीमा नही होती और न ही कामयाबी के लिए कोई लक्ष्मण रेखा ही बनी है । ये तो बस एक खुश्बू की तरह पूरे विश्व में फैल जाती […]

आम आदमी की बचत पर नरेन्द्र मोदी-सरकार ने कैंची चलवायी!..?

April 1, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ‘न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार’ का ‘वास्तविक चरित्र’ उसके गठन के ठीक बाद से प्रतिदिन किसी-न-किसी रूप में सामने आता रहा है। इस कथित सरकार ने बैंकिंग प्रणाली को पूरी तरह […]

भारतीय संस्कृति का प्रतीक है होली

March 25, 2021 0

डॉ. राजेश कुमार शर्मा पुरोहित फाल्गुन मास में होली प्रतिवर्ष बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है। हिन्दुओं के प्रमुख त्योहारों में होली का विशेष महत्व है। होली का त्योहार वैदिक काल से मनाया जाता […]

मिलिए ‘हीरोज़ इग्नोटम’ की पहली प्रतिभा ‘अजितभा बोस’ से

March 20, 2021 0

अंजलि तिवारी : ● सफलता एक ऐसी लौ है जो आग मे भी छिपती नहीसफलता ऐसा पानी है जो बारिश मे भी खो जाता नही और सफलता के लिए दो चीज़े महत्त्वपूर्ण है ‘लगन और कड़ी […]

हिंसा की संस्कृति को बदलना जरूरी

January 13, 2021 0

शाश्वत तिवारी लखनऊ : फिक्की फ्लो लखनऊ ने आज प्रसिद्ध लेखिका तारा कौशल के साथ एक आभासी बातचीत का आयोजन किया, जिसमे महिलाओं के खिलाफ होने वाले यौन अपराध विषय पर विस्तार से चर्चा की […]

‘अवसरवादिता’ का सजीव उदाहरण प्रस्तुत करते लोग

January 1, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय सचमुच, वे लोग अतिशय कृतघ्न हैं, जो ‘रोमन कैलेण्डर’ के तिथि, दिन तथा वर्ष के अनुसार ही ‘जीवन’ और ‘मरण’ के सभी कृत्य निष्पादित-सम्पादित करते-कराते हैं और जैसे ही ‘अवसर’ […]

देश के प्रबुद्ध-वर्ग की नववर्ष में हिन्दी-भाषा की शुद्धता के प्रति आग्रह की अभिव्यक्ति

December 31, 2020 0

नववर्ष में हिन्दीभाषा की शुद्धता के प्रति समाज को हमारे साहित्यकार, अध्यापक तथा पत्रकार-वर्ग जागरूक करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसका लक्षण उस समय दिखा जिस समय ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से नववर्ष की पूर्व-सन्ध्या […]

किसान-क्रान्ति ‘ऐतिहासिक’ मोड़ पर

December 5, 2020 0

‘मुक्त मीडिया’ का ‘आज’ का सम्पादकीय ★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आज यदि किसान-आन्दोलन-वार्त्ता का पाँचवाँ दौर परिणामरहित रहा। ऐसे में, सरकार को चाहिए कि वह किसानों के लिए बनाये गये अधिनियम को निरस्त कर, […]

संवैधानिक संस्थाओं और संविधान का दुरुपयोग : एक गम्भीर प्रश्न

November 26, 2020 0

‘संविधान-दिवस’ के अवसर पर ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में ‘संवैधानिक संस्थाओं और संविधान का दुरुपयोग : एक गम्भीर प्रश्न’ विषय पर’ २६ नवम्बर को प्रयागराज में एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया। […]

लुप्त होती अपनी ‘माटी कला’ को बचाने व हमें नई ‘उम्मीद’ देने के लिए ‘सहगल साहब’ आपका दिल से शुक्रिया

November 17, 2020 0

शाश्वत तिवारी : हाँ । खुश होने की बात तो है ही कि आदि काल से चली आ रही इस अद्भुत कला को दोबारा जिंदगी मिल रही है। लखनऊ में आयोजित हुए ‘माटी कला मेला’ […]

विमर्श : शोले उगलने वाली क़लम और लब आख़िर क्यों हैं ख़ामोश ?

November 5, 2020 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’ ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट की, जिस पर विचार-विमर्श भी किया गया । आप भी इस विचार-विनिमय में प्रतिभाग कर सकते हैं । प्रस्तुत है विमर्श की संक्षिप्त बातें… राघवेन्द्र […]

स्मृति-वातायन : उत्तरप्रदेश पी०सी०एस० (प्रा०) परीक्षा २०१८ सामान्य अध्ययन और हिन्दी-भाषा के प्रश्नों और वैकल्पिक उत्तरों में अक्षम्य अशुद्धियाँ

November 2, 2020 0

■ आज ही की तारीख़ में इसे सार्वजनिक किया था । ● उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग ने खड़ा किया ‘भयंकर अशुद्धियों’ का पहाड़! — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय (भाषाविद्-समीक्षक) दशकों से उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग की अयोग्यता […]

विश्व की राजनीतिक क्षितिज पर देदीप्यमान महानायिका इन्दिरा प्रियदर्शिनी की हत्यातिथि (३१ अक्तूबर) पर सम्पूर्ण भारतवासियों की श्रद्धाञ्जलि

October 31, 2020 0

अभूतपूर्व आत्मविश्वास और कठिनतर परिस्थितियों में भी धैर्य खोये बिना स्वविवेक से निर्णय करने की सामर्थ्य और क्षमता-जैसे विलक्षण गुणों ने ही श्रीमती इन्दिरा गान्धी को राजनीति के शीर्ष शिखर पर समासीन कराया था। वे […]

हम अपने भीतर का रावण क्यों नहीं जला पाते?

October 27, 2020 0

‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज का आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद-समारोह सम्पन्न ‘बौद्धिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, साहित्यिक तथा सामाजिक संस्था ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद समारोह का आयोजन २७ अक्तूबर को प्रयागराज में हुआ। समारोह […]

पलायनवादी आक्रोश और ‘इन्क़िलाब ज़िन्दाबाद’ का यथार्थ

October 14, 2020 0

‘मुक्त मीडिया’ का ‘आज’ का सम्पादकीय — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आज जिधर देखिए उधर, ‘पलायनवादी आक्रोश’। चेहरे निस्तेज; हथेलियों की आग बुझी हुई। दिखती है तो नितम्ब-प्रान्त में बाँस डालकर ख़ुद को सबसे अधिक […]

नयी दृष्टि और भारतीयता के वाहक थे ‘फिराक’

October 10, 2020 0

शाश्वत तिवारी : लखनऊ/ फिराक हिन्दुस्तानी संस्कृति की रूह के विशिष्ट शायर थे। कई भाषाओं के विद्वान भाषण कला में अद्वितीय और गद्यव पद्य दोनों की लेखनी में माहिर थे। उर्दू शायरी के इतिहास में […]

1 2 3 11
url and counting visits